शाहीन बाग मामले का हवाला देकर सुप्रीम कोर्ट में किसान आंदोलन को हटाने की याचिका दायर

रिपोर्ट :- प्रिंस बहादुर सिंह

नई दिल्ली :-पिछले साल नवंबर माह से ही दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसानों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका ऋषभ शर्मा द्वारा दायर की गई है, उन्होंने कोर्ट में हलफनामा दायर कर शाहीन बाग मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए निर्णय को आधार बनाते हुए कोर्ट से किसान आंदोलन को तत्काल हटाने की मांग की है।

आपको बता दें कि इस हलफनामे में कहा गया है कि न्यायालय ने सार्वजनिक व्यवस्था को बिना नुकसान पहुंचाए आंदोलनों को करने की अनुमति दी है, लेकिन किसान आंदोलन से आम लोगों को होने वाली परेशानी पर कुछ नहीं कहा गया है।

किसान आंदोलन की वजह से दिल्ली की सीमाएं बंद है और इससे आम लोगों को काफी दिक्कतें भी हो रही है। याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा शाहीन बाग मामले में दिए गए फैसले को आधार बनाते हुए कोर्ट से कहा है इस प्रकार के आंदोलनों को अनुमति देना कोर्ट के पुराने निर्णय के खिलाफ है।

मीडिया में प्रकाशित हुई खबरों को आधार बनाते हुए याचिकाकर्ता ऋषभ शर्मा ने कहां है कि सार्वजनिक सड़कों पर किसानों द्वारा किए जा रहे आंदोलन की वजह से कच्चे माल की कीमतें भी 30 गुना बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि इस आंदोलन से रोजाना देश को 3500 करोड रुपए का नुकसान भी हो रहा है।

गौरतलब हो कि ऋषभ शर्मा ने 30 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर किसानों को दिल्ली की सीमाओं से तुरंत हटाने का अनुरोध किया था, हालांकि इस मामले पर अभी किसी भी प्रकार की सुनवाई नहीं हो पाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 5 =