भीकाजी कामा पैलेस  आयोजित ‘स्वच्छता पखवाड़ा ’ में  दिल्ली नगर निगम के तमाम नेता और पदाधिकारी ओर केंद्रीय शहरी मामलों के राज्यमंत्री हरदीप सिंह  पुरी ने इस दौरान केंद्रीय मंत्री पुरी ने सफाई कर्मचारियों के साथ कूड़ा उठाकर श्रमदान किया

भीकाजी कामा पैलेस  आयोजित ‘स्वच्छता पखवाड़ा ’ में  दिल्ली नगर निगम के तमाम नेता और पदाधिकारी ओर केंद्रीय शहरी मामलों के राज्यमंत्री हरदीप सिंह  पुरी ने इस दौरान केंद्रीय मंत्री पुरी ने सफाई कर्मचारियों के साथ कूड़ा उठाकर श्रमदान किया

रिपोर्ट/ दीप चन्द शर्मा / दिल्ली / 
नई दिल्ली – साऊथ एमसीडी की  ओर रविवार को भीकाजी कामा पैलेस  आयोजित ‘स्वच्छता पखवाड़ा ’ में  दिल्ली नगर निगम के तमाम नेता और पदाधिकारी ओर केंद्रीय शहरी मामलों के राज्यमंत्री हरदीप सिंह  पुरी ने इस दौरान केंद्रीय मंत्री पुरी ने सफाई कर्मचारियों के साथ कूड़ा उठाकर  श्रमदान भी किया। इस मौके पर बच्चों ने मॉडल और नुक्कड़ नाटक के जरिये जागरूक किया ।
 वीओ 1- स्वच्छता अभियान को लेकर प्राइमरी स्कूल के बांये बच्चो के मॉडल दर्शाने का प्रयास किया गया है कि किस तरह से कचरे से निजात मिल सकती है ।और सफाई के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए नुक्कड़ नाटक किया गया ।स्वच्छ भारत, स्वस्थ्य भारत’ तभी बनेगा, जब हम सभी मिलकर स्वच्छता के कार्य में शामिल हो।  देश के दूर-दराज के गांवों में सैकड़ों की संख्या में शौचालयों का निर्माण किया गया है, जरूरत इस बात की है कि स्वच्छता को केवल औपचारिकता नहीं बनाकर इसे दैनिक जीवन में शामिल करें ।तभी देश को हम ‘स्वच्छ भारत से स्वस्थ भारत’ बनाने का सपना पूरा कर सकते हैं । उन्होंने कहा कि खुले में शौच करने की प्रवृति और व्यक्तिगत साफ-सफाई जैसी आदतें कई युगों से जारी है, इन्हें बदलने के लिए जनमानस में परिवर्तन करना आवश्यक है। शहरी मामलों के मंत्री ने स्वच्छता अभियान में भाग लेने वाले सभी लोगों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई।
वीओ – 2   दिल्ली में स्वच्छता अभियान को सफल बनाने की जिम्मेदारी निगम के कंधों पर है । इस अभियान के लिए जागरूक करने के मकसद से श्रमदान किया गया लेकिन जहाँ मंत्री जी आमंत्रित किया गया उस पार्क में देख सकते हैं ।जहाँ तमाम अधिकारी झाड़ू लेकर सफाई करने ने जूट है वह इस तरह का कचरा कैसे पहुच । तश्वीरो से साफ दिखाई दे रहा है कि जो पत्ते यहाँ दिखाई दे रहे हैं वह कही और जगह से लाकर डाले गए हैं। अब सवाल उठता है की इस तरह से क्या ही स्वच्छता मिशन सफल हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + four =