हिसार के अलावा नारनौल का तापमान भी गुरुवार को शून्य से नीचे -0.5 और रेवाड़ी का जमाव बिंदु पर पहुंच गया


रिपोर्ट :- दौलत शर्मा

हरियाणा :-हरियाणा में पिछले 47 वर्षों में दूसरी बार भीषण सर्दी पड़ी हैं. प्रदेश के हिसार जिले में न्यूनतम तापमान माइनस 1.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. इससे पहले वर्ष 1973 में न्यूनतम तापमान (Temperaure) माइनस 1.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो अब तक का रिकॉर्ड है. हिसार के अलावा नारनौल का तापमान भी गुरुवार को शून्य से नीचे -0.5 और रेवाड़ी का जमाव बिंदु पर पहुंच गया. वहीं रेवाड़ी के बावल स्थित कृषि विज्ञान केंद्र पर न्यूनतम तापमान 0.0 रिकॉर्ड किया गया।

बता दें कि हरियाणा में इस साल सर्दी अपने ही रिकार्ड हर दिन तोड़ती दिख रही है. साल 2020 के आखरी दिन ठंड ने कहर बरपाया और तापमान माइनस में पहुंच गया. वीरवार को न्यूनतम तापमान ने इस सीजन के सभी रिकार्ड तोड़ दिए. हिसार में तापमान माइनस 1.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड दर्ज किया गया. एक दिन पहले हिसार में तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस था.भारत मौसम विभाग ने कड़ाके की सर्दी को लेकर हरियाणा में अलर्ट जारी किया है. यहां शीतलहर चलने को लेकर अलर्ट दिया गया है. इसके साथ ही ही आगामी दो से दिन दिनों तक यही स्थिति बने रहने की उम्मीद है. मौसम विज्ञानियों की मानें तो आने वाले दो से तीन दिनों में न्यूनतम तापमान गिरने की संभावना है।

दक्षिण पूर्वी से बदलकर पहाड़ों से आने वाली उत्तर पश्चिमी हवा के चलने से रात्रि तापमान में गिरावट हुई है. जिससे तापमान माइनस में चला गया है. इसके साथ ही धुंध के कारण कारण वाहनों की रफ्तार थमी है. वहीं प्रदेश में तीन जनवरी की रात से पांच जनवरी के बीच बादलवाई व कहीं-कहीं गरज-चमक व हवाओं के साथ हल्की बारिश होने की भी संभावना है।

साल का आखिरी दिन सबसे सर्दिला रहा और अब नये साल की शुरुआत ठंड से हुई है। पारा अब लगातार घटता जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 − 1 =