झूले में आई एक नन्ही परी,रेड क्रॉस की सहायता से शुरू की गई झूला स्कीम

झूले में आई एक नन्ही परी,रेड क्रॉस की सहायता से शुरू की गई झूला स्कीम

रिपोर्टर/ कुलजीत सिंह 

पंजाब :- अमृतसर के जिला प्रशासन द्वारा हर वर्ष 2008 में लावारिस बच्चों की जान बचाने के लिए रेड क्रॉस की।सहायता से शुरू की गई झूला स्कीम अब तक 154 बच्चों की जान बचाने में कामयाब हुई।आज इस झूले में एक लड़की जो कि 22 दिसंबर 2017 को सुबह करीब 9 .15 बजे के करीब कोई अनजान व्यक्ति झूले में छोड़ गया।उस बच्ची का मैडिकल पार्वती देवी हसपताल से कराया गया था और इस समय बच्ची बिलकुल तन्दरुस्त है ।आज मैडम अलका कालिया सहायक कमिश्नर और विकास हीरा एस डी एम अमृतसर 2 द्वारा बच्ची को झूले से प्राप्त किया और लापा स्कीम के तहत स्वामी गंगा नन्द भूरी फाउंडेशन धाम भेजने की प्रकिरिया पूरी की।उन्होंने ने बताया कि रेड क्रॉस सोसाइटी की सहायता के साथ शुरू की गई इस झूले में अब तके 154 मासूम बच्चों को बचाया जा सका ।झूले में आए बच्चों में से बड़ी गिनती में लड़कियों का मिलना समाज के लिए एक गंभीर मामला है।हीरा ने कहा कि आज के समाज को अपनी सोच बदलने की जरूरत है ।आज हर क्षेत्र में लड़कियां लड़को से आगे जा रही हैं ।मैडम कालिया ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा लिंग अनुपात में लड़कियों के गिर रहे ग्राफ़ को कम करने के लिए बेटी बचाओ  बेटी पढ़ाओ मुहिम की शुरुआत की गई है।अब तक इस झूले में 133 बच्चीयों की जान बचाई जा चुकी है ।गौर हो कि झूले में आए बच्चों की जानकारी झूले के नीचे लगी घन्टी से रेड क्रॉस कर्मचारियों को मिल जाती है और तुरन्त बच्चे को नजदीक पार्वती देवी हसपताल से मेडिकल करवा देते हैं ।यदि कोई व्यक्ति बच्चा गोद लेना चाहता है तो वह ऑनलाइन वेबसाइट www. care .nic. in द्वारा अपनी रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 4 =