94 लाख रुपए का चूना लगाने वाले जीजा और साले को कोरबा पुलिस ने गिरफ्तार किया

रिपोर्ट:- गणेश दास महंत /

छत्‍तीसगढ़ के कोरबा में फॉर्म-16 में हेराफेरी कर आयकर विभाग को करीब 94.34 लाख रुपए का चूना लगाने वाले जीजा और साले को कोरबा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल फॉर्म-16 में हेराफेरी करके आयकर विभाग को करीब आठ करोड़ रुपए की चपत लगाने का मामला वर्ष 2016 में उजागर हुआ था. धोखाधड़ी और कूटरचना का केस दर्ज करके दीपका थाना पुलिस मामले की जांच रही है.

पुलिस ने गिरोह के सरगना सीमांचल प्रधान को चेन्नई से जबकि जीजा सूर्यकांत नाहक को कोरिया जिले के चिरमिरी से पकड़ा है. मामले के तीन आरोपी शाहनवाज अख्तर, ललि‍त राठौर और भगवान गौर को पुलिस पहले की गिरफ्तार कर चुकी है. हेराफेरी कर कमाई गई राशि से सीमांचल ने नौ लाख रुपए की एक स्पोर्ट्स कार खरीदी. इसे पुलिस चेन्नई से जब्त कर कोरबा ले आई है. पुलिस ने सीमांचल का लैपटॉप और मोबाइल फोन भी जब्त किया है.

पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपियों को कटघोरा की एक कोर्ट में पेश किया, यहां से उन्‍हें जेल भेज दिया गया है.

ऐसे की धोखाधड़ी
सीमांचल चेन्नई की जज कॉलोनी में रहता है. उसका जीजा सूर्यकांत कोरिया जिले के चिरमिरी में रहता है. सूर्यकांत ने साउथ ईस्‍टर्न कोलफील्‍ड्स लिमिटेड (एसईसीएल), कोरबा की कोयला खदानों में काम करने वाले कर्मचारियों को 30 से 50 फीसदी कमीशन पर आयकर विभाग से टैक्स रिफंड कराने का झांसा दिया. कोरबा के दीपका गेवरा में काम करने वाले कर्मचारियों को भी झांसे में लिया.
पैसा रिफंड पाने के लिए लोगों ने सूर्यकांत को अपना फार्म-16 उपलब्ध कराए. सूर्यकांत ने फार्म सीमांचल तक पहुंचाए. सीमांचल ने फार्म-16 में काटछांट की. कर्मचारियों की आय को वास्तविक आय से कम बताकर आयकर से 94 लाख 39 हजार रुपए का टैक्स रिफंड कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven − three =