मुख्यमंत्री नीतीश ने की समाज में सुधार की बड़ी पहल,02 अक्टूबर को बाल विवाह  और दहेज उन्मूलन को लेकर राज्यस्तर पर दिलाए जायेंगे शपथ,

 

 

मुख्यमंत्री नीतीश ने की समाज में सुधार की बड़ी पहल,02 अक्टूबर को बाल विवाह  और दहेज उन्मूलन को लेकर राज्यस्तर पर दिलाए जायेंगे शपथ,

 

दहेज लेनदेन वाले कार्यक्रम में शामिल होने पर मंत्री व विधायक नपेंगे।

 

राजेन्द्र ठाकुर के साथ सोनी न्यूज टीम बिहार

 

 

शेखपुरा.-बिहार में पूर्ण शराब बंदी की सफलता से उत्साहित बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समाज सुधार में एक और बड़ी पहल की है। समाज मे जड़ जमाये दहेज प्रथा और बाल विवाह प्रथा के खिलाफ नीतीश ने 02 अक्टूबर 2017 से राज्य व्यापी अभियान छोड़ दिया है।इस दिन नीतीश कुमार 18 वर्ष से कम उम्र में शादी नहीं करने साथ ही बिना दहेज के करने के लिए वे स्कूली बच्चों के साथ- साथ आमजन को भी शपथ दिलाएंगे। डीएम दिनेश कुमार के हवाले से वरीय उपसमाहर्ता ज्ञान प्रकाश ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि 02 अक्टूबर को मुख्य सचिव के पत्र के निर्देशानुसार  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  स्कूल, कॉलेज,तथा आम बच्चो को 18 वर्ष से कम में शादी नहीं करने और शादी में दहेज का लेन देन न करने का शपथ पटना से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दिलाएंगे। ज्ञान प्रकाश ने बताया कि 1961 में दहेज प्रतिषेध अधिनियम बनाये गये थे। लेकिन यह अधिनियम का जागरूकता के आभाव में सामाजिक स्तर पर कारगर नहीं हो सका।  इस कानून में दहेज लेना देना दोनों गुनाह है।इसके लिए बड़ी सजा का प्रावधान भी है लेकिन सफल नहीं हो पा रहा है। आये दिन दहेज के चलते नवविहाता की हत्या हो जा रही है। कम उम्र में शादी कर लेने से स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ने लगता है जिससे मानसिक विकास रुक जाया करता है।इसके लिए भी अधिनियम बना हुआ है ।  2006 में इस अधिनियम में परिवर्तन किया गया है। उन्होंने कहा कि दहेज प्रथा और बाल विवाह प्रथा दोनों मानवाधिकार का उलंघन है। जो प्रतिनधि या पदाधिकारी दहेज लेन देन वाले कार्यक्रम या बाल विवाह वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे उनके विरुद्ध भी सूचना मिलने पर करवाई की जा सकती है । वहीं जदयू के जिलाध्यक्ष डॉ अर्जुन प्रसाद ने कहा कि जो मंत्री ,विधायक या संगठन पदाधिकारी दहेज लेनदेन वाले कार्यक्रम में या बाल विवाह वाले समारोह में शामिल होंगे उन्हें अपने पद से हाथ धोना पड़ सकता है। मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए डीएम की अध्यक्षता में पदाधिकारियो की  एक बैठक आयोजित की गई। बैठक में बताया गया कि यह शपथ कार्यक्रम शहर के टाउन हॉल में कराया जाएगा। इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग,शिक्षा विभाग,आंगनबाड़ी, जीविका समेत अन्य सरकारी संस्थाएं हिस्सा लेंगी। 10 बजे पूर्वाह्न टाउन हॉल में उपस्थित लोगों को शपथ दिलाया जाएगा। इन सरकारी संस्थाओं को शपथ पत्र भी दिया जाएगा जिसे विभिन लोंगों द्वारा भरवाया जाएगा। उन भरे शपथ पत्रों को महिला हेल्प लाइन में जमा किया जा सकता है।करीब 01 लाख लोंगों को जिला में शपथ दिलाये जाने का अनुमान है। बैठक में डीडीसी निरंजन कुमार झा,एडीएम राकेश कुमार,वरीय उप समाहर्ता ज्ञान प्रकाश,डीएम के ओएसडी शम्भू शरण समेत अन्य लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − 2 =