30 साल का युवक जिन्दा है या उसकी हत्या कर दीगयी , 25 दिनों में दिल्ली पुलिस पता नही कर पाई

30 साल का युवक जिन्दा है या उसकी हत्या कर दीगयी , 25 दिनों में दिल्ली पुलिस पता नही कर पाई

 

नई दिल्ली के फतेहपुर बेरी इलाके से एक शख्स 30 अगस्त से रहस्यमय तरीके से लापता है परिवार वालों का शक है कि उनका अपहरण कर हत्या कर दी गई है इलाके के CCTV खंगालने के बाद घरवालों को पक्का यकीन है कि पड़ोस के ही एक व्यक्ति के ऑफिस में उनकी हत्या की गई है परिवार का यह भी आरोप है के पुलिस पूरे मामले में लापरवाही से जांच कर रही है।

यह तस्वीर है रविंद्र शर्मा की रविंद्र शर्मा अपने पूरे परिवार के साथ फतेहपुर बेरी इलाके में रहते हैं इनकी पत्नी और तीन बच्चे हैं रविंद्र शर्मा 30 अगस्त से लापता है परिवार वालों का आरोप है के अमित गुप्ता नाम का पड़ोसी ने हे इन्हें अगवा कर उनकी हत्या की है CCTV की यह तस्वीर है 30अगस्त 2017 की है तस्वीरों में रविंद्र शर्मा अमित गुप्ता के ऑफिस के तरफ जाते दिख रहे हैं लेकिन आते हुए नहीं देख रहा है परिवार को जिस शख्स पर आरोप है वह अपने ऑफिस से कुछ घंटे बाद निकलता हैऔर फिर उसी रात को 2:00 बजे स्कूटी से अपने ऑफिस जाता है और Scorpio गाड़ी लेकर के निकलता है परिवार के लोगों का कहना है की  पुलिसिया इंक्वायरी में उसने बताया कि वह अपने पत्नी के इलाज के लिए गाड़ी निकालने गया था लेकिन जितना वक्त लगा उस हिसाब से घरवालों को शक है के आरोपी ने इनके भाई के शव को ठिकाने लगाने के लिए उसने गाड़ी निकालें क्योंकि शुरू में आरोपी ने साफ मना कर दिया था कि शाम को उसकी मुलाकात रविंद्र शर्मा से हुई थी लेकिन परिवार द्वारा सीसीटीवी उपलब्ध कराने के बाद पुलिस ने पूछताछ की तो उसने माना कि वह उसके ऑफिस पर आया था लेकिन चार पांच मिनट बाद वह चला गया जबकि सीसीटीवी में रविंद्र शर्मा के जाते हुए थे फुटेज नहीं है परिवार का यह भी आरोप है की पुलिस इस पूरे मामले को लापरवाही से जांच कर रही है, रविंद्र शर्मा के गायब होने के बाद उनके परिवार का रो रो कर बुरा हाल है उनकी पत्नी हर वक्त अपने पति का फोटो अपने सीने से लगाए रहती है लेकिन जब बच्चे पूछते हैं के मां पापा कहां गए तो इस मां के पास कोई जवाब नहीं करता वही रविंद्र शर्मा की मां अपने बेटे की सलामती के लिए दुआ कर रहे हैं इनकी आंखों का आंसू इनके लाल के इंतजार में रुकने का नाम नहीं ले रहा,इस पूरे मामले में एक बात और है जो चौंकाने वाली है जिस वक्त रविंद्र अमित गुप्ता के ऑफिस में थे उन्होंने अपने दोस्त के पास फोन किया था कुछ सेकंड बात होने के बाद आवाज आई मुझे तो मार दिया उसके बाद कोई आवाज नहीं आई फोन पर बात कर रहे दोस्त को लगा कि ऐसे ही कुछ हुआ होगा अब 10 सेकेंड हेलो हेलो कहने के बाद उसने फोन काट दिया।

 

 

रहस्यमय तरीके से लापता इस शख्स की अभी तक कोई सूचना नहीं है वही परिवार का आरोप है कि पुलिस इस पूरे मामले में लापरवाही दिखा रही है FIR में अमित गुप्ता के साथ साथ उसके नौकर का भी नाम है लेकिन परिवार वालों का कहना है चिनाव कर पिछले 15 दिनों से गायब है अब देखना यह है कि दिल्ली पुलिस क्या इतने बड़े उलझन को सुलझाए गी क्या आरोपी को सलाखों के पीछे पहुंचाएगी क्या इस परिवार को रविंद्र शर्मा वापस मिलेगा इन सारे सवालों का जवाब आने वाला वक्त ही बताएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − eight =