हिंदुस्तान ज़िंक टीआईओएल टैक्सेशन अवार्ड 2022 में जूरी अवार्ड से सम्मानित

नई दिल्ली :-वेदनता समूह की एकीकृत सीसा, जस्ता और चांदी की उत्पादक कंपनी हिन्दुस्तान जिंक को टीआईओएल टैक्सेशन अवार्ड -2022 पुरस्कार समारोह में 5000 करोड़ से अधिक कारोबार करने वाली गैर डीम्ड कॉर्पोरेट श्रेणी में जूरी अवार्ड से सम्मानित किया गया है। इस अवार्ड श्रेणी में हिन्दुस्तान जिंक पहले स्थान पर रही वहीं जायडस लाइफ साइंसेस लिमिटेड दूसरे और टाटा पावर तीसरे स्थान पर रही। हिन्दुस्तान जिंक को यह पुरस्कार प्रख्यात जूरी द्वारा प्रदान किया गय जिसमे सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश एके पटनायक, एसके सिंह, पूर्व वित्त सचिव और 15 वें वित्त आयोग के उपाध्यक्ष एएन झा, पूर्व उद्योग सचिव रमेश अभिषेक, पूर्व सीबीईसी अध्यक्ष और पूर्व सीबीडीटी चेयरमैन सुश्री प्रवीण महाजन, बिजनेस स्टैण्डर्ड के संपादकीय निदेशक अशोक भट्टाचार्य और डायरेक्ट टैक्स कोड की टास्क फोर्स के सदस्य, एम्बेसडर अजीत कुमार – संयुक्त राष्ट्र कार्यालय में भारत के पूर्व स्थायी प्रतिनिधि, प्रख्यात लेखक डॉ. गिरीश आहूजा और अनूप विकल – सीएफओ, हेड लीगल और सीएसआर – नायरा एनर्जी लिमिटेड शामिल थे |
हिंदुस्तान जिंक के मुख्यकार्यकारी अधिकारी, अरुण मिश्रा ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि, ” हमारे संगठन ने सर्वोत्तम कर प्रक्रियाओं को अपनाने के परिणामस्वरूप इस सम्मानित मंच पर मान्यता प्राप्त की है। हम सदैव स्थानीय, सरकार और समुदाय के साथसकारात्मक संबंधों को विकसित करने और बनाए रखने हेतु प्रयासरत है। जहां हम पारदर्शी और मजबूत कर अनुपालन और रिपोर्टिंग के माध्यम से कार्य करते हैं।”
इस उपलब्धि पर, हिंदुस्तान जिंक के अंतरिम मुख्य वित्तीय अधिकारी, संदीप मोदी ने कहा, “वैश्विक कर वातावरण ने कर पारदर्शिता के एक नए युग में प्रवेश किया है और हिंदुस्तान जिंक में हम कर अनुपालन के संबंध में उच्चतम मानकों को आत्मसात करने का लक्ष्य रखते हैं। यह पुरस्कार हमारे सभी हितधारकों को मूल्य और पारदर्शिता प्रदान करने में हमारे मानकों का प्रमाण है।”
इस अवार्ड का उद्देश्य कम्प्लायंट कर दाताओं को प्रेरित करने, प्रोत्साहित करने और उनके योगदान को सम्मानित करना है। जूरी अवार्ड जीतकर हिन्दुस्तान जिंक ने प्रमाणित कर दिया है कि वह कराधान नियमों और कानूनों का पूरी तरह पालन करता है जो अनुपालन और रिपोर्टिंग की जरूरतों के संदर्भ में उनके टैक्स कार्य की मजबूती को दर्शाता है। कंपनी ने पिछले 5 वर्षों में 9 बिलियन डॉलर से अधिक का योगदान सरकारी खजाने में दिया है जबकि वित्तीय वर्ष 2021-22 में राजकोष में कुल योगदान 2 बिलियन डॉलर से अधिक का था जो व्यापक रूप से आर्थिक और सामाजिक प्रभावों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसी कारण देश के विकास में भी अपनी महती भूमिका दर्शाता है।
हिन्दुस्तान जिंक अपने आचरण में निष्पक्ष, ईमानदार, जवाबदेह और नैतिक होने का प्रयास करता है और परिचालन स्थानों पर लागू कर नियमों और विनियमों की अक्षरशः पालना करने के लिए प्रतिबद्ध है। कंपनी टैक्स कम्प्लायंस और रिपोेर्टिंग के मामले में सत्यनिष्ठा के हाई स्टैण्डर्ड को बनाए रखती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − 14 =