सुल्तानपुरी मामले में महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस से माँगा जवाब

रिपोर्ट :-नीरज अवस्थी


नई दिल्ली :-नए साल के आगमन के अवसर पर एक ओर जहां देश जश्न के माहौल में सराबोर था, वहीं दूसरी ओर देश की राजधानी दिल्ली में इंसानियत को शर्मसार करते हुए दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. दरअसल दिल्ली के कंझावला इलाके में नग्न अवस्था में एक युवती का शव मिला, जिसने हर किसी के होश फाख्ता कर दिए।


मिली जानकारी के अनुसार 31 दिसंबर और एक जनवरी की रात की एक गाड़ी से स्कूटी सवार युवती काफी दूर तक घिसटती हुई गई. इसके बाद युवती की लाश नग्न अवस्था में मिली. हालांकि पुलिस का कहना है कि यह मामला एक्सीडेंट का है. लेकिन क्योंकि महिला का शव नग्न हालात में मिला है इसलिए पुलिस अलग-अलग पहलुओं से पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है. बाहरी जिले के डीसीपी के मुताबिक बाहरी दिल्ली पुलिस को सुबह तड़के सूचना मिली कि एक बलेनो गाड़ी में एक डेड बॉडी घसीटती हुई जा रही है, पुलिस टीम मौके पर पहुंची और गाड़ी की पहचान करने की कोशिश की गई. इस बीच पुलिस को सूचना मिली कि कंझावला में सड़क पर एक युवती का शव देखा गया है. क्राइम टीम को मौके पर बुलाया गया और फॉरेंसिक एविडेंस भी कलेक्ट किए गए.शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।


युवती की मौत के बाद अब परिजन अभी तक यह नहीं पा रहे हैं, उनकी बेटी अब उनके बीच में नहीं है. परिवार अभी तक सदमे से बाहर नहीं निकल पा रहा है. परिजनों की माने तो मृतका अपने घर में एकलौती कमाने वाली थी, जिसके सहारे पूरा परिवार का गुजारा हो रहा था. अब मृतका के यू अचानक मौत के बाद परिवार बेसहारा हो गया है. वहीं परिवार पुलिस के व्यवहार और उसकी कार्यशैली से भी नाखुश दिखाई दे रहा है और पुलिस प्रशासन पर भी लापरवाही का आरोप लगा रहा है. साथ ही परिजन पुलिस के दुर्घटना वाले बयान को एकसिरे से नकारते हुए युवती के साथ अनहोनी की भी आशंका जता रहा है. परिजन का कहना है कि जिस अवस्था में युवती का शव बरामद हुआ है वो उसके साथ किसी उन्होंने की ओर भी इशारा कर रहा है, लेकिन पुलिस इस पूरे मामले में लीपापोती करने का प्रयास कर रही है।


पुलिस ने युवती के शव को अपने कब्जे में लेकर इसे सुल्तानपुरी थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिया. हालांकि पुलिस इस मामले को एक्सीडेंट के नजरिए से जोड़ती हुई दिख रही है, लेकिन जिस स्थिति में महिला का शव मिला है वो और भी कई सवाल खड़े कर रही है. आपको बता दें कि सुरक्षा के मद्देनजर 31 दिसंबर की रात को अलर्ट मोड़ पर थी, तो इतनी बड़ी घटना कैसे हो गई यह सबसे बड़ा सवाल है. उस पर तुर्रा यह कि इतनी हाई सिक्योरिटी के दौरान जब युवती को कई किलोमीटर तक घसीटा गया तो इस बीच क्या कहीं भी पुलिस तैनात नहीं थी. फिल्हाल पुलिस ने इस मामले में 5 लोगों को दबोच लिया है, और इनके खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर अलग-अलग पहलुओं से पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen + 4 =