सिन्धी समाज की आयरन लेडी बहुमुखी प्रतिभा सम्पन्न, डॉ. नीलम मंशारामानी द्वारा लिखित पुस्तक ‘. Chirag Epitome of Light and Joy’ का विमोचन

रिपोर्ट :- नादिरा शाहिन

नई दिल्ली :-सिन्धी समाज की बहुमुखी प्रतिभाशाली आयरन लेडी डॉ. नीलम मंशारामानी दिल्ली व भारत की भौगोलिक सीमाओं में ही नहीं वरन् समूचे विश्व मेें एक ऐसा चर्चित चेहरा है जो हर समय मुस्कुराहट बिखेरते हुए जीवन में संकटों व झंझावातों से जूझती मानव जाति विशेष रूप से महिलाओं को प्रेरणा दे रहा है।
नई दिल्ली के प्रतिष्ठित एयरपोर्ट अथॉर्टी ऑफ इंडिया ऑफीसर्स इंस्टीट्यूट के भव्य सभागार में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के गणमान्यजनों के सान्निध्य में डॉ. नीलम मंशारामानी की दूसरी पुस्तक ‘Chirag Epitome of Light and Joyका विमोचन गरिमामयी रूप से हुआ।

पुस्तक का विमोचन पूर्व केन्द्रीय मंत्री माननीय के.जे. अल्फोंस (सांसद), श्री के. एल. गंजू (माननीय काउंसलर जनरल एम्बेसी ऑफ कोमोरल), श्री एडसन मोमो (मंत्री रिपब्लिक ऑफ जिम्बाब्वे दूतावास), एस्ट्रो दादाजी अशोक भाटिया (दुबई), श्री के.एल. मल्होत्रा (महासचिव ICHR ), प्रो. शुभा राजन (हेड एक्सटर्नल CII) ने संयुक्त रूप से किया।

मुख्य अतिथि सांसद श्री के.जे. एल्फांस ने पुस्तक की लेखिका डॉ. नीलम मंशारामानी, उनके स्पेशल चाइल्ड (पुत्र) चिराग के व्यक्तिगत जीवन के कार्यों, उपलब्धियों, चुनौतियों का सारगर्भित वर्णन करते हुए ‘पुस्तक के सारांश पर प्रकाश डाला। श्री के.जे. एल्फांस ने सभी उपस्थितजनों से पुस्तक को खरीदने की अपील करते हुए कहा कि इस पुस्तक की बिक्री से प्राप्त समूल राशि सेवा व सहयोग के निहितार्थ दी जायेगी।


इस अवसर पर मुख्य वक्ताओं प्रो. शुभा राजन ( External Head CCI), श्री के. एल. गंजू (माननीय काउंसलर जनरल ऑफ कोमोरल ), श्री एडसन मामो (मंत्री रिपब्लिक ऑफ जिम्बाब्वे दूतावास), दादा अशोक भाटिया (दुबई), श्री के.एल. मल्होत्रा, हीरो ठाकुर (प्रतिष्ठित साहित्यकार व साहित्य अकादमी पुरुस्कार विजेता), भगवान भंभानी, सहित सभी वक्ताओं ने लेखिका डॉ. नीलम व उनके विशिष्ठ पुत्र चिराग के साथ उनकी पति के 32 वर्ष पूर्व स्वर्गवास के पश्चात उनकी कठिन जीवन यात्रा, उनके संस्मरणो, उनकी बहुमुखी प्रतिभाओं जिनमें पी.एच.डी. (डॉक्टरेट ऑफ लेटर्स), कानूनी शिक्षा, पेन्टर (देश व विदेश में 100 से अधिक प्रदर्शनियां) गायन-संगीत व कला क्षेत्र में उनकी प्रतिभा सर्वविदित है विशेष रूप से ‘स्पेशली एबल्ड’ बच्चों के लालन-पालन में उनके माता-पिता को एक अध्यापक, कोच के रूप में मार्गदशन करना उनकी दिनचर्या का नियमित अंग है।

डॉ. नीलम मंशारामानी एक बहुआयामी व्यक्तित्व की धनी एक ऐसी विलक्षण महिला हैं जो जीवन में विपरीत परिस्थियां आने के बावजूद उनका सफलतापूर्वक मुकाबला कर स्वयं तो सम्मानजनक जीवन जी ही रही हैं और दूसरी महिलाओं को भी प्रेरणा दे रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × three =