शराब माफियाओं के 10 फीसदी कमीशन बढ़ाने के लिए सिसोदिया को पहली किश्त के रूप में दिए गए थे 150 करोड़ रुपये-प्रवेश साहिब सिंह

रिपोर्ट :-नीरज अवस्थी

नई दिल्ली :-भाजपा सांसद प्रवेश साहिब सिंह और भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज आरोप लगाया कि कि नई शराब नीति के तहत कमीशन 2.5 प्रतिशत से 12 फीसदी करने के लिए करोड़ो रूपये की रिश्वत मनीष सिसोदिया को दी गई थी और इसकी पहली किश्त के रूप में सिसोदिया को 150 करोड़ रुपये दिया गया।

आज प्रदेश कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रवेश साहिब सिंह और श्री मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि आबकारी नीति को अपने अनुरूप बनाने के लिए शराब माफियाओं, मंत्रियों एवं अधिकारियों के बीच कई बैठके हुई। ये बैठके ओबरॉय होटल में की गई। शराब माफियाओं और आम आदमी पार्टी सरकार के बीच तेलांगना के नेता के सी आर की बेटी के कविता ने बिचौलियो का काम किया और वे ही शराब माफियाओं के कई सदस्यों को मनीष सिसोदिया से मिलवाने लेकर आई थी। प्रेसवार्ता में प्रदेश भाजपा रिलेशन विभाग के प्रभारी श्री हरीश खुराना, प्रदेश प्रवक्ता श्री यासिर जिलानी एवं श्री खेमचंद शर्मा उपस्थित थे।

प्रवेश साहिब सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान चलाने वाले अब खुद ही भ्रष्टाचार में फंसे हुए हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आबकारी मंत्री मनीष सिसोदिया को बताना चाहिए कि शराब बेचने वालों का कमीशन 10 फिसदी क्यों बढ़ाया गया। उन्हें यह भी बताना चाहिए कि उनके , के कविता और शराब माफियाओं के सदस्यों- दिनेश अरोड़ा, विजय नैयर और विजय अरोड़ा के बीच क्या सम्बंध हैं। और इन सब से पैसे एकत्र कर आम आदमी पार्टी को देने का काम अमन ढल करता था। जिसके दिल्ली के साथ-साथ पंजाब में भी शराब के ठेके हैं।

मंजिन्दर सिंह सिरसा ने शराब नीति में किये गए भ्रष्टाचार के पक्के सबूत का दावा करते हुए कहा कि वे जल्द ही इन सबूतों का खुलासा करेंगे कि अन्य कौन-कौन से राजनेता इसमें शामिल हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के ओबरॉय होटल में बैठक होने के साथ-साथ चंडीगढ़ के हैयात होटल में भी इन शराब माफियाओं की बैठकें होती थीं। इन बैठकों के बाद आप नेताओं ने उसी शराब नीति को दिल्ली और पंजाब में लागू किया जो तेलंगाना में पहले से चली आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − six =