रेल रोको आंदोलन 71वें दिन में हुआ दाख़िल ,केंद्र की सलाह किसानों की सांझी कमेटी बनाना सबसे खतरनाक कदम :किसान जत्थेबंदी


रिपोर्ट :- कुलजीत सिंह

जंडियाला गुरु:-किसान मजदूर सँघर्ष कमेटी पंजाब के राज्य प्रधान सतनाम।सिंह पन्नू और राज्य सचिव सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि केंद्र सरकार की नीयत ठीक नही है । जो लंबी बातचीत कर समझौता करना चाहती है ।वहीं केंद्र की यह तजवीज़ कि किसानों के संघर्ष की सांझी कमेटी बनाई जाए ,यह सबसे खतरनाक कदम है ।किसान जत्थेबंदी इस पक्ष के साथ सहमत नही है।


केंद्र का थ दावा की कानून में जो गलतियां है जत्थेबंदी इसके बारे में बताए ।परंतु यह कृषि कानून सिर्फ़ कॉरपोरेट पक्ष होने के चलते किसान को तबाह करने वाले हैं ।इन किसान विरोधी कानूनों स्व मंडी बाज़ार पर अडानी और अंबानी का कब्ज़ा होना तय है ।इसलिए किसान जत्थेबंदी इस वार्तालाप में शामिल नही होगी ।किसान विरोधी कृषि बिल को रद्द कराने के लिए राज्य नेता सुखविंदर सिंह सभरा ,जसबीर सिंह पिद्दी ,लखविंदर सिंह वरियाम नंगल की।अध्यक्षता में दिल्ली के कुंडली बॉर्डर पर लगा मोर्चा बिल्लों को रद कराने तक जारी रहेगा।

किसान नेता गुरबचन सिंह चब्बा ने कहा कि जंडियाला गुरु गहरी रेलवे स्टेशन पर रेल।रोको आंदोलन आज 71 वें दिन में शामिल हो गया है ।इस अवसर पर राज्य सचिव पंधेर ने संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार सँघर्ष को कमज़ोर करने के लिए शरारती को अनसरों के रूप में भेज कर आंदोलन को बदनाम करवा सकती है ।उन्होंने कहा कि कल किसान जत्थेबंदियों की मीटिंग ।के ना तो राजनाथ सिंह रक्षा मंत्री और ना ही गृह मंत्री अमित शाह शामिल हुए जबकि इन्होंने ने मिटिंग से पहले मीटिंग में जाने का भरोसा दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − three =