मिथुन राशि वालों के लिए शुभ 2021, अप्रैल के बाद चमकेगा किस्मत का सितारा

रिपोर्ट :- कशिश

नई दिल्ली :-2021 शुरू होने वाला है और ये वर्ष मिथुन राशि के जातकों के लिए बेहद खास रहेगा। ज्योतिषाचार्य डॉ. अरुणेश कुमार शर्मा ने राशियों के आधार पर 2021 में लोगों के नफे-नुकसान का आकलन किया है।  ज्योतिषविद के मुताबिक, 2021 के पहले तीन महीने मिथुन राशि  वालों को औसत परिणाम मिलेंगे। अप्रैल के बाद स्थिति मजबूत होगी। आइए जानते हैं कि आने वाले साल में सेहत, करियर और आर्थिक मोर्चे पर मेष राशि वालों का हाल कैसा रहेगा।

सामान्य- सरलता से आगे बढ़ते रहने वाला है। साझा सलाह से चलें। शोधपरक कार्यों में रुचि रहेगी। महत्वपूर्ण मामलों में जल्दबाजी न दिखाएं। घर के सदस्यों से विनम्र रहें। अच्छे होस्ट बने रहें।  बड़े प्रयासों को अप्रैल के बाद गति देना बेहतर होगा। पहली तिमाही औसत परिणामों की सूचक है। शनि पूरे साल अष्टम भाव में रहेगा। यह अवरोधों और नाम हानि का सूचक है। नवाचार और प्रयोग से आरंभ में बचें।  सफलता का प्रतिशत मध्यम है। गैर जरूरी चर्चाओं में मौन रहें। स्वयं से कमतर लोगों की सहयोग, सेवा से लाभ संवरेगा।

आर्थिक- जॉब से जुड़े लोगों का प्रदर्शन बेहतर रहेगा। जिम्मेदारियों को बखूबी निभाकर जगह बनाए रखने में सफल होंगे। अति उत्साह में निर्णय न लें। नए प्रस्तावों में जल्दबाजी न दिखाएं. आगामी वित्त वर्ष में स्थिति और अच्छी होगी। वरिष्ठों को सम्मान दें। समकक्षों का सहयोग बना रहेगा।

रिलेशनशिप- प्रेम के मामलाों में इस वर्ष पहल से बचें। धैर्य और धर्म का अनुपालन संबंधों में श्रेष्ठता बनाए रखेगा। मित्रों की सलाह हितकर रहेगी। जिद और भावावेश में कार्य न करें। पार्टनर के स्पेस और इच्छाओं को सम्मान दें। उत्तरार्ध अपेक्षाकृत अधिक प्रभावशाली रहेगा. सुबह-शाम भ्रमण पर जाएं और आसमान में शुक्र के तारे के दर्शन करें।

नौकरी-व्यापार- कामकाज के लिए यह वर्ष मध्यम फलकारक है। आरंभिक महीनों में जोखिम लेने से बचें। रुटीन को बेहतर बनाए रखें। अत्यधिक श्रम और भागदौड़ की अपेक्षा स्मार्ट वर्क पर जोर दें। अधिनस्थों से विनम्रता से पेश आएं। व्यापार व्यवसाय सहज बना रहेगा। नए प्रस्तावों पर गंभीरता से विचार कर ही निर्णय लें। नीति-नियम हर हाल बनाए रखें।

सेहत- स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष साधारण है। देर रात तक जागने और अनावश्यक खान-पान पर अंकुश रखें। नियमित स्वास्थ्य जांच बनाए रखें। देह के साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी फोकस रखें. सर्दियों में अतिरिक्त सतर्कता बरतें। जिम के साथ जॉगिंग को जोड़ें. भोजन में अनुशासन रखें।

एजुकेशन- शिक्षा क्षेत्र में प्रभावशाली बने रहेंगे। उच्च शिक्षा से जुडे़ लोग अधिक अच्छा करेंगे। परिणामों की चिंता किए बिना ईमानदारी और लगन से मेहनत करें। परीक्षा प्रतियोगिता के लिए उत्तरार्ध अधिक बेहतर रहेगा। स्कूल एजुकेशन से जुड़े छात्र  बड़ों की बातों को अनदेखा न करें। विषय को समझकर आगे बढ़ें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 + 12 =