भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने बजट को गेम चेंजर बताया

नई दिल्ली -दिल्ली प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने वर्तमान केंद्रीय बजट वर्ष 2021-22 को गेम चेंजर बताते हुए कहा कि पिछली यू.पी.ए. की मनमोहन सरकार के 10 साल के कार्यकाल के दौरान एक भी बजट ऐसा नहीं था जिससे वर्तमान बजट की तुलना की जा सके। ‘आत्मनिर्भर बजट’ अभियान के तहत एक संवादाता सम्मेलन में श्री तिवारी ने कहा कि लोगों ने पहली बार ऐसा बजट देखा है जो अर्थव्यवस्था को न केवल नई दिशा देने वाला है बल्कि कोरोना काल में मंद पड़ चुकी अर्थव्यवस्था को पुर्नजीवीत करने में सहायक है। प्रेसवार्ता के दौरान प्रदेश भाजपा मीडिया प्रमुख नवीन कुमार उपस्थित थे। 

मनोज तिवारी ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान विषम परिस्थितियां बनी, लेकिन मोदी सरकार ने जिस तरह का कर मुक्त बजट प्रस्तुत किया है, उससे विशेषज्ञ भी हैरान और परेशान हैं। इस महामारी के संकट को देख कर सबकी सोच थी कि इस बार बिना भारी कर के बजट नहीं आएगा, लेकिन आत्मनिर्भर बजट सबके लिए सुखद और अचंभित करने वाला है। कोरोना काल में भी मोदी सरकार ने कोई नया कर नहीं लगाया।

मनोज तिवारी ने कहा कि यह पहला ऐसा बजट है जिसमें आयकर विभाग में अफसरशाही पर भी लगाम लगाई गई है। आयकर विभाग ने अब 50 लाख रुपये तक रिटर्न की स्क्रूटनी को छह साल की जगह तीन साल कर दी है। श्री तिवारी ने कहा कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की भांति विकसित, आधुनिक और सुरक्षायंत्रों से युक्त बनाया जा रहा है। जहां पर लोग आने वाले समय में यात्रा के साथ-साथ इसकी आधुनिकता देखने का भी लुफ्त उठा सकते हैं। 

एक सवाल के जवाब में मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार पर भ्रष्ट्राचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि भ्रष्ट्राचार के खिलाफ आंदोलन कर सत्ता में आई केजरीवाल सरकार के मंत्री और पदाधिकारी अब रिश्वत के लिए आपस में लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अब कोई गंभीरता से नहीं लेता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − nine =