भाजपा दिल्ली में दो बार चुनाव हार चुकी है, इसका मतलब यह नहीं है कि एक सीरियल भ्रष्टाचारी को दिल्ली का एलजी बना दें

रिपोर्ट :-नीरज अवस्थी

नई दिल्ली :-आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधायक आतिशी ने प्रेसवार्ता कर कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और भाजपा से आम आदमी पार्टी की 2 मांगें हैं, पहली उपराज्यपाल वीके सक्सेना के भ्रष्टाचार के दोनों मामलों की जांच के आदेश तुरंत दिए जाए। दूसरी जब तक जांच जारी है, तब तक इन्हें पद से हटाया जाए। एलजी वीके सक्सेना ने केवीआईसी का चेयरमैन रहते अपने पद का दुरुपयोग कर बेटी को खादी प्रीमियम लाउंज डिजाइन का ठेका दिया। कानून के मुताबिक, केवीआईसी का कोई भी अधिकारी अपने परिवार के किसी सदस्य को ठेका नहीं दे सकता। उन्होंने कहा कि केवीआईसी के पूर्व चेयरमैन व दिल्ली के एलजी विनय कुमार सक्सेना के दवाब में नोटबंदी के दौरान ब्लैक मनी को व्हाइट किया गया। आम आदमी पार्टी का मानना है कि कोई व्यक्ति चाहे कितना भी उच्च पद पर बैठा हो, उसे किसी भी प्रकार से भ्रष्टाचार करने का अधिकार नहीं है। हमें पता है कि पीएम मोदी और भाजपा दिल्ली में दो बार चुनाव हार चुकी है। इसका मतलब यह नहीं है कि एक सीरियल भ्रष्टाचारी को दिल्ली का एलजी बना कर दिल्ली के लोगों से दुश्मनी दिखाएं।

आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधायक आतिशी ने आज पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता के संबोधित किया।‌ उन्होंने कहा कि मीडिया ने भ्रष्टाचार का एक बहुत गंभीर खुलासा एलजी विनय कुमार सक्सेना के संबंध में किया है। वह इससे पहले खादी विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन (केवीआइसी) के चेयरमैन थे। उन्होंने अपने केवीआइसी चेयरमैन के पद का दुरुपयोग करते हुए अपनी बेटी शिवांगी सक्सेना को मुंबई में खादी प्रीमियम लाउंज की डिजाइन करने का ठेका दिया। इस लाउंज का उद्घाटन जनवरी 2017 में राज्यमंत्री हरि भाई चौधरी द्वारा किया गया था। इसका एक फोटो खुद केवीआइसी ने अपने ट्विटर हैंडल पर डाली है। इससे ये साबित होता है कि खादी प्रीमियम लाउंज मुंबई में बना है। उसके उद्घाटन के पत्थर पर राज्य मंत्री और तत्कालीन केवीआइसी चेयरमैन विनय सक्सेना का नाम है। उसमें बहुत स्पष्ट तौर पर लिखा है कि इसके डिजाइन का काम शिवांगी सक्सेना यानी विनय कुमार सक्सेना की सुपुत्री ने किया है। केवीआइसी के 1961 एक्ट में बहुत स्पष्ट तरीके से लिखा हैं कि केवीआइसी का कोई भी ऑफ़िसर और पदअधिकारी अपने पद का प्रयोग अपने परिवार के किसी भी सदस्य को फायदा पहुंचाने या ठेका देने के लिए नहीं करेगा। इससे साफ़ होता है कि आप उन्हें किसी भी प्रकार का ठेका नहीं दे सकते। दूसरा कानून कहता है कि केवीआइसी का कोई भी कर्मी यदि उसके परिवार का कोई सदस्य उस संस्था कंपनी या फर्म में उस सोसाइटी में कार्यरत है तो किसी भी सोसाइटी संस्था या कंपनी या फर्म का कोई अनुबंध स्वीकृत नहीं करेगा।

विधायक आतिशी ने कहा कि केवीआईसी के कर्मी कंडक्ट रूल्स बहुत स्पष्ट है कि आप अपने परिवार के सदस्य को नौकरी पर नहीं रख सकते हैं। दूसरी बात अगर आपके परिवार का सदस्य किसी कंपनी या फॉर्म या सोसाइटी में है। उस कंपनी को कोई भी ठेका नहीं दे सकते है। मैं विनय कुमार सक्सेना जी से पूछना चाहूंगी कि उन्होंने अपना केवीआईसी के चेयरमैन का पद का दुरुपयोग करते हुए, अपनी बेटी शिवांगी सक्सेना को मुंबई में खादी का प्रीमियम लाउंज बनाने के लिए क्यों डिजाइन और इंटीरियर डिजाइन का काम दिया? क्या पूरे देश में कोई डिजाइनर और इंटीरियर डिजाइनर नहीं बचे थे? क्या देश भर में मुंबई का खादी प्रीमियम लाउंज बनवाने के लिए उनको अपनी बेटी शिवांगी सक्सेना मिली थी? आज हमारी केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी से दो डिमांड है। हमारी पहली डिमांड है कि विनय कुमार सक्सेना जी के भ्रष्टाचार के खिलाफ तुरंत जांच के आदेश दिए जाए।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का यह मानना है कि अगर कोई भी व्यक्ति किसी वरिष्ठ पद पर बैठा है, वह कितना भी सीनियर और कितना भी ऊंचा पद पर हो, उसे किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार करने का अधिकार नहीं है। उसे भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस होना चाहिए। इसीलिए हम चाहते हैं कि विनय कुमार सक्सेना के भ्रष्टाचार पर एक इंक्वायरी की जाए। हमारी दूसरी मांग है कि जब तक विनय कुमार सक्सेना जी पर इंक्वायरी चल रही है और वह भ्रष्टाचार के इन आरोपों से निर्दोष साबित नहीं होते हैं। तब तक उनको दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर के पद से हटाया जाए। मैं भारतीय जनता पार्टी से यह पूछना चाहती हूं कि क्या आपको पूरे देशभर में दिल्ली का एलजी बनाने के लिए सिर्फ यह एक भ्रष्टाचारी मिला था। रोज-रोज विनय कुमार सक्सेना जी के भ्रष्टाचार के मामले सामने आ रहे हैं। तीन दिन पहले दिल्ली के विधानसभा के पटल पर राजेंद्र नगर से विधायक दुर्गेश पाठक जी ने बहुत संगीन तथ्य सामने रखे कि नोटबंदी के दौरान किस तरह से विनय कुमार सक्सेना जी के दबाव में ब्लैक मनी को व्हाइट किया गया। मीडिया की खबर दिखाती है कि किस तरह से विनय सक्सेना जी ने अपने केवीआईसी के पद को मिस यूज करते हुए अपनी बेटी शिवांगी सक्सेना को इंटीरियर डिजाइन का कॉन्ट्रैक्ट दिया। जिस व्यक्ति पर हर बार भ्रष्टाचार के सीरियस आरोप लग रहे हैं, क्या पूरे देश भर में भारतीय जनता पार्टी को दिल्ली का एलजी बनाने के लिए यही एक विनय कुमार सक्सेना जी मिले हैं।

वरिष्ठ नेता आतिशी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी हमें पता है कि आप दिल्ली में दो बार चुनाव हार चुके हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि एक सीरियल भ्रष्टाचारी को अब दिल्ली का एलजी बना कर दिल्ली के लोगों से आप ऐसी दुश्मनी दिखाएं। इसलिए आज हमारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और केंद्र सरकार से दो स्पष्ट मांगे हैं। हमारी पहली मांग की विनय कुमार सक्सेना जी के दोनों भ्रष्टाचार के मामलों नोटबंदी के दौरान ब्लैक मनी को व्हाइट करने और अपनी बेटी शिवांगी सक्सेना को इंटीरियर डिजाइन का कॉन्ट्रैक्ट देने का मामला हो। इन पर तुरंत जांच बैठाई जाए और हमारी दूसरी मांग की जब तक इन दोनों मामलों का जांच जारी रहे विनय कुमार सक्सेना जी को लेफ्टिनेंट गवर्नर के पद से हटाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − 18 =