पिछले सात वर्षों में “दिल्ली शिक्षा मॉडल” देश में बेंच मार्क बन गया है और देश-विदेश में दिल्ली के शिक्षा मॉडल की चर्चा हो रही है

रिपोर्ट :-नीरज अवस्थी

नई दिल्ली :-मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार द्वारा बच्चों को उत्तम शिक्षा प्रदान करने की प्रतिबद्धता के उद्देश्य से खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री और बल्लीमारान के विधायक इमरान हुसैन ने आज रीजनल डायरेक्टर (एजुकेशन) डीडीई सेंट्रल, डीडीई नॉर्थ, डीडी जोन के साथ बल्लीमारान विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न सरकारी स्कूलों के प्रमुखों के साथ समीक्षा बैठक की। इस समीक्षा बैठक में दिल्ली शहरी सुधार आश्रय बोर्ड(डीयूएसआईबी) एवं पीडब्ल्यूडी के अधिकारी भी शामिल हुए।

बल्लीमारान विधानसभा के क्षेत्र के उच्च जनसंख्या घनत्व को देखते हुए मंत्री इमरान हुसैन ने शिक्षा विभाग को सरकारी स्कूलों में अतिरिक्त कक्षाओं के निर्माण और चश्मा बिल्डिंग स्कूल में नयी बिल्डिंग के निर्माण कार्य में तेज़ी लाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि अंतर्विभागीय समन्वय में कमी के कारण नई कक्षाओं के निर्माण की परियोजनाओं में कोई देरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया कि सभी स्कूलों के बच्चों को प्रदान की जाने वाली बुनियादी सुविधाएं उच्च गुणवत्ता वाली हों।

मंत्री इमरान हुसैन ने जीनत महल स्कूल में विज्ञान प्रयोगशाला के संचालन के लिए पोर्टा केबिन के निर्माण की भी समीक्षा की। उन्होंने पोर्टा केबिन के निर्माण कार्य को तेजी से पूरा करने को कहा, ताकि साइंस स्ट्रीम के छात्र विज्ञान प्रयोगशाला की सुविधा का लाभ उठा सकें। उनको यह अवगत कराया गया कि प्राइवेट स्कूलों से अधिक संख्या में बच्चे सरकारी स्कूलों में दाखिला ले रहे हैं। इस दौरान उन्होंने पिछले सात वर्षों में दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग की ‘अविश्वसनीय उपलब्धियों’ के लिए भी सराहना की। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में दिल्ली शिक्षा मॉडल देश में बेंच मार्क बन गया है और देश -विदेश में इसकी सराहना की जा रही है।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने विद्यालय प्रमुखों को सरकारी स्कूलों में प्रवेश के लिए बच्चों के ऑनलाइन पंजीकरण करने में उनके पेरेंट्स का सहयोग करने का निर्देश दिया है। मंत्री इमरान हुसैन ने विद्यालयों में शिक्षकों की संख्या का संज्ञान लेते हुए शिक्षा विभाग को सरकारी विद्यालयों में आवश्यक शिक्षकों की तैनाती करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से स्कूल में चल रही विभिन्न योजनाओं और सुविधाओं के बारे में जानने के लिए स्कूलों का निरीक्षण करेंगे।

मंत्री इमरान हुसैन ने स्कूल प्रमुखों से दिल्ली स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप यूनिवर्सिटी द्वारा संचालित स्पोकन इंग्लिश कोर्स में बड़े पैमाने पर पंजीकरण के प्रति जागरूक करने के लिए भी कहा, जहां युवाओं को अंग्रेजी बोलना और अपने कम्युनिकेशन स्किल में सुधार करना सिखाया जा रहा है। दिल्ली के हर युवा को फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने में मदद करने के लिए केजरीवाल सरकार ने यह एक बड़ा मिशन शुरू किया है।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने बताया कि सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार ने दिल्ली में देश का पहला ‘वर्चुअल स्कूल’ शुरू किया है। मॉडल वर्चुअल स्कूल में 13 से 18 वर्ष की आयु का कोई भी छात्र, जिसने किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल से कक्षा 8वीं पास कर ली है, वो ऑनलाइन प्रवेश के लिए आवेदन कर सकता है। इस वर्चुअल स्कूल में सभी कक्षाएं ऑनलाइन मोड में होंगी और बच्चे इस स्कूल में प्रवेश लेने के लिए www.dmvs.ac.in के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। मंत्री इमरान हुसैन ने कहा कि छात्रों के लिए नियमित पाठ्यक्रम के अलावा वर्चुअल स्कूल क्लास 11वीं और 12वीं के छात्रों को जेईई, एनईईटी, सीयूईटी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी करने में भी बच्चों की मदद करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 3 =