पार्टी को मजबूत करने का अभियान 6 अप्रैल तक पूरा होगा-आदेश गुप्ता

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

आगामी पांचों विधानसभा चुनावों में भाजपा का परचम लहराएगा-आदेश गुप्ता

नई दिल्ली :- प्रदेश भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आज यहां विश्वास व्यक्त किया कि अगले वर्ष के शुरु में जिन राज्यों में चुनाव हैं, वहां तो पार्टी सत्ता में आएगी ही साथ ही जिन राज्यों में पार्टी अभी सत्ता में नहीं है, वहां भी सत्ता के लिए लोकतांत्रिक ढंग से कार्यकर्ताओं के दम पर भाजपा संघर्ष जारी रहेगा।

पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की कल हुई बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि कार्यकारिणी ने सभी राज्य इकाईयों को बूथ स्तर की समिति बनाने का काम 25 दिसम्बर तक और पन्ना प्रमुख बनाने का काम आगामी वर्ष 6 अप्रैल तक पूरा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि कार्यकारिणी में भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सभी राज्य इकाईयों को हर बूथ पर ‘मन की बात’ क्षेत्र के गणमान्य नागरिकों के साथ सुनने के इंतजाम करने को भी कहा है जिसके लिए प्रदेश भाजपा ने कार्रवाई शुरु कर दी है। प्रेस वार्ता में प्रदेश भाजपा मीडिया सह-प्रमुख अनिल वर्मा एवं ममता काले भी उपस्थित थे।

श्री गुप्ता ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री पिछले काफी समय से राजनीतिक पर्यटन पर हैं और उन्हें दिल्ली की जनता की जरा भी चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि छठ महापर्व की आज शुरुआत हो चुकी है, लेकिन मैली यमुना को ठीक करने और छठ के लिए घाटों की साफ-सफाई करने के बजाय वे इससे बचने में लगे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कार्यकारिणी का मार्गदर्शन किया और पार्टी के आगामी कार्यक्रमों को लेकर निर्देश भी दिए। बैठक में एक राजनीतिक प्रस्ताव पारित किया गया जिसमें कोरोना के खिलाफ लड़ाई, अर्थव्यवस्था, सेवा ही संगठन, सेवा ही समर्पण, पर्यावरण आदि विषयों को समाहित किया गया। यह प्रस्ताव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पेश किया जिसका समर्थन तमिलनाडु के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अन्नामलाई एवं अन्य वरिष्ठ नेताओं ने किया।

श्री गुप्ता ने कहा कि कोरोना संकट काल में गरीबों और प्रवासी मजदूरों की चिंता करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जो प्रण लिया कि देश में कोई भूखा नहीं रहेगा, इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए देश के 80 करोड़ लोगों के लिए उन्होंने दुनिया की सबसे बड़े खाद्य राहत अभियान ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ चलाई जिसके लिए कार्यकारिणी ने श्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया। कोरोना संकट के दौर में भी भारत के सामर्थ्य और सशक्त राष्ट्र के रुप में उभरकर आई है। इतना ही नहीं सिर्फ 278 दिनों में भारत ने 100 करोड़ टीकाकरण का माइलस्टोन पार कर इतिहास रच दिया। रोम में हुए जी-20 सम्मेलन में कोरोना से लड़ाई में वैश्विक एकजुटता के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ‘वन अर्थ वन हेल्थ’ का संदेश भी दिया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले 7 सालों में कृषि एवं किसान कल्याण के लिए जो कार्य किए, उतने कार्य आजादी के 70 सालों में भी किसी ने नहीं किए। साल 2014 से पहले कृषि बजट सिर्फ 23000 करोड़ रुपये का था जो कि आज बढ़कर 123000 करोड़ रुपये हो गया है। किसान सम्मान निधि के तहत बिना किसी बिचौलिए के सीधे लगभग 10 करोड़ किसानों के खाते में अब तक 1.55 लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि दी जा चुकी है।

इसके साथ ही भारत रत्न डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को दुनिया भर में स्थापित करने का काम प्रधानमंत्री ने किया जिन्होंने पंचतीर्थ का विकास कर बाबा साहब को जन-जन तक पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने सिख भाइयों के हित में जितने कार्य किए, उतने किसी ने नहीं किए। प्रधानमंत्री की प्रेरणा से श्री हरमंदिर साहिब के लिए एफसीआरए रजिस्ट्रेशन ग्रांट हुआ और अब उन्हें विदेशी योगदान मिलना शुरु हो गया है। पहले लंगर पर भी टैक्स लगता था, इसे टैक्स मुफ्त करने का काम भी नरेन्द्र मोदी ने किया। माननीय प्रधानमंत्री की प्रेरणा से करतारपुर साहिब कॉरिडोर बन कर तैयार हुआ और सिख भाइयों को डेरा नानक साहब और करतारपुर साहिब का दर्शन करने का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

श्री गुप्ता ने कहा कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद जिस तरह से राज्य सरकार के संरक्षण में हिंसा का तांडव हुआ और महिलाओं के साथ अनाचार किया गया, हम चुप बैठने वालों में से नहीं है। हम प्रजातांत्रिक रुप से पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए निर्णायक लड़ाई लड़ेंगे और जिन राज्यों में सत्ता में नहीं हैं, वहां भी कमल खिलाएंगे। आगामी पांच राज्यों में होने वाले चुनावों पर विस्तार से चर्चा हुई और ‘हर घर दस्तक’ कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए भाजपा के 10 लाख हेल्थ वॉलंटियर्स इसमें सहयोग करेंगे।

उन्होंने कहा कि कार्यकारिणी का समापन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन के साथ हुआ जिसमें प्रधानमंत्री ने जन-जन के मन के विश्वास का सेतु बनने का आह्वान किया और आम जनता के साथ आत्मीयता से संपर्क बढ़ाने पर जोर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × two =