बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मीडिया के कैमरे से बचते नजर आते हैं

रिपोर्ट:- प्रियंका झा

बिहार :- जहां पर कोरोना काल में अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री मीडिया से बात करते हुए दिखे तो वही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मीडिया से बचते हुए दिखे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 100 दिन बाद भी नहीं वीडियो से बात की और ना ही अपने राज्य के लोगों को संबोधित किया।





इससे पहले वह लगातार विपक्ष के निशाने पर घर से तीन महीने तक ना निकलने के कारण आलोचना झेलते रहे हैं हालांकि अब घर से निकल कर योजनाओं की समीक्षा तो कर ही रहे हैं लेकिन अपनी किसी भी प्रतिक्रिया को नीतीश कुमार ने सरकारी विज्ञप्ति तक ही सीमित कर रखा है आलम यह है कि वज्रपात गिरने से राज्य में एक दिन में 85 से अधिक लोगों  की मौत हो जाती हैं, रात तक पीएम मोदी और अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों की प्रतिक्रिया आ जाती है लेकिन नीतीश कुमार सिर्फ विज्ञप्ति जारी कर अपने दायित्व का निर्हवन कर लेते हैं।



ऐसे में सवाल उठता है की नीतीश कुमार ने मीडिया से इतनी दूरी क्यों बनाई है. जबकि कोरोना काल में कई राज्य के मुख्यमंत्रियों ने मीडिया के जरिए जनता से संवाद बनाए रखा  केरल जैसे राज्य के मुख्यमंत्री अपने विपक्ष के नेता के साथ बैठकर हर दिन संवादाता सम्मेलन करते थे इस वजह से वह चर्चा में बने रहे। वैसे ही राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश या,



झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जैसे मुख्यमंत्रियों ने लोगों के बीच अपने काम करने के स्टाइल और मीडिया के सवालों के जवाब देने के लिए हमेशा चर्चा में रहे दरअसल नीतीश कुमार के बारे में ऐसा कहा जाता है कि वह लोगों और मीडिया, दोनों से दूरी बनाए रखना चाहते हैं, उनके ईर्द-गिर्द कुछ अधिकारी रहते हैं जिनसे उन्हें संतुष्टि मिलती है, हालांकि पिछले कुछ दिनों में वह वर्चुअल माध्यम का इस्तेमाल करते हुए जरूर दिखाई दिए, इस माध्यम से उन्होंने अपनी पार्टी और कार्यकर्ताओं से 6 दिनों तक लगातार संवाद किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × three =