दिल्ली ही नहीं, पूरे देश की जनता इसके विरोध में उतरेगी और भाजपा से बदला लेगी- दुर्गेश पाठक

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

नई दिल्ली :-आम आदमी पार्टी ने एमसीडी चुनाव को लेकर आज सुबह 11 बजे ह्यूमन चेन अभियान चलाया। इस दौरान दिल्ली के सभी फ्लाईओवर पर “भाजपा ने एमसीडी चुनाव कराया रद्द, हार के डर से भागी भाजपा” के बैनर लगाए। ‘आप’ एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा को भ्रष्टाचार और लूट की लत लग गई है। इसलिए किसी भी तरह से एमसीडी को अपने कब्जे में रखना चाहती है। भाजपा के नेताओं ने दिल्ली में अपने लिए आलीशान घर बना लिए, उनके सभी नेता करोड़पति हो गए, यह सारा पैसा कहां से आया? भाजपा लोकतंत्र की हत्या कर जनता से अपना रोष और समर्थन दिखाने का अधिकार छीन रही है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने सोमवार को बयान जारी कर कहा कि जबसे चुनाव टले हैं, पूरी दिल्ली की जनता हताश है। दिल्ली की जनता और एमसीडी के कर्मचारी बहुत समय से सपना देख रहे थे कि कब एमसीडी चुनाव हों और हम भाजपा को एमसीडी से निकालकर उसमें आम आदमी पार्टी जैसी ईमानदार सरकार को लेकर आएं। जिससे उनके सभी काम अच्छे से हों, उन्हें तनख्वाह समय से मिले, दिल्ली स्वच्छ रहे, दिल्ली में जो कूड़े के पहाड़ हैं वह हट सकें। लेकिन भाजपा ने आखिरी वक्त पर चुनाव की तारीख घोषित होने से 15 मिनट पहले चुनाव आयोग पर दवाब बनाकर चुनाव स्थगित करा दिया। इससे साफ जाहिर है और दिल्ली का बच्चा-बच्चा कह रहा है कि भाजपा ने हार के डर से चुनाव टाल दिए। उनका सबसे बड़ा डर था भ्रष्टाचार से हाथ धोना, जो कि वह पूरी दिल्ली में कर रहे हैं।

भाजपा के नेताओं ने दिल्ली में अपने लिए आलीशान घर बना लिए, उसके लिए कहां से पैसा आ रहा है? 5 सितारा होटल की भांति दफ्तर बनाए हैं, उसके लिए पैसा कहां से आ रहा है? उनके सभी नेता करोड़पति हो गए, सारा पैसा कहां से आया? उन्हें भ्रष्टाचार की लत पड़ गई है। कभी जीपीएफ का पैसा खाना, कभी कनवर्जन का पैसा खाना, कभी स्कूल बेचकर पैसा खाना, दिल्ली की तमाम ज़मीनों को बेचकर पैसा खाना। भाजपा को इसकी ऐसी लत पड़ गई है कि उनसे यह आदत छूट नहीं रही है। उन्हें पता है कि यदि चुनाव हुए तो उनकी हार निश्चित है इसलिए किसी भी तरह से एमसीडी को अपने कब्जे में रखना चाहते हैं।

यह लोकतंत्र के बिल्कुल खिलाफ है। एक तरफ अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी है, जो एक विजन लेकर चल रही है कि भारत को बाबा साहब अंबेडकर और भगतसिंह के सपनों की तरह बनाएंगे। दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी है, जो बाबा साहब अंबेडकर जी के सपनों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। आज एमसीडी के चुनाव टाले जा रहे हैं। कल को हार के डर से किसी राज्य के चुनाव टाल देंगे। लोकसभा के चुनाव भी टाल सकते हैं। यह लोकतंत्र के खिलाफ है। एक यही जरिया है जो जनता को खुलकर अपना रोष और अपना समर्थन दिखाने का अधिकार देता है। यदि उनसे यह भी छीन लेंगे तो देश में लोकतंत्र सिर्फ नाम के लिए रह जाएगा। यह तो सरासर तानाशाही है। सिर्फ दिल्ली की जनता नहीं बल्कि पूरे देश की जनता इसके विरोध में उतरेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 2 =