दिल्ली में कांग्रेस संगठन मजबूत स्थिति में है, निगम चुनाव समय पर होने चाहिए- चौ. अनिल कुमार

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

नई दिल्ली – दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने आज किराड़ी और नजफगढ़ जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ता सम्मेलनों को सम्बोधित करते हुए कहा कि 2013 में आकर केजरीवाल ने दिल्ली की सत्ता हथियाने लिए लोगों से जो वायदे किए थे, 7 साल के शासन में से एक भी वायदा पूरा नही किया। भ्रष्टाचार मुक्त और पारदर्शी प्रशासन, जन लोकपाल गठन और न्याय दिलाने के सपने दिखाकर लोगों भावनाओं को ठेस पहुॅचाई, जबकि आज दिल्ली में कानून व्यवस्था सहित प्रशासनिक और व्यवहारिक हालात अधिक बिगड़ रहे है। किराड़ी जिला में कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक सुरेन्द्र कुमार और नजफगढ़ में कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन जिला अध्यक्ष सतबीर शर्मा ने किया।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा आम आदमी पार्टी और भाजपा ने 15 वर्षों के शासन में भ्रष्टाचार शासन, लूटपाट, धोखाधड़ी करके दिल्ली की विकसित स्वरुप को बदलकर रख दिया है। उन्होंने कहा कि पांच राज्यों में जीतने के बावजूद भाजपा और आप दिल्ली में निगम चुनाव कराने की हिम्मत नही कर पा रही है। दोनो पार्टी एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप करके निगम चुनाव टालने के लिए एक दूसरे के पूरक के रुप में काम कर रही है। उन्होंने कहा कि राजधानी में कांग्रेस की स्थिति मजबूत है और आने वाले दिनों में हम प्रत्येक बूथ पर लगभग 100 से अधिक डिजिटल सदस्य बनाने का लक्ष्य पूरा करने वाले है। उन्हांने कहा कि हमारे पास सक्रिय कार्यकर्ताओं और 12 हजार से अधिक एन्रोलरों की टीम कांग्रेस पार्टी के निगम चुनाव के लक्ष्य को भेदने में कामयाब बनाऐगी।

कार्यकर्ता सम्मेलनों में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के अलावा पूर्व सांसद डा0 उदित राज, कृष्णा तीरथ, प्रदेश कम्युनिकेशन विभाग के चैयरमेन एवं पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक जय किशन, पूर्व विधायक मुकेश शर्मा, विजय लोचव, सुमेश शौकीन, आदर्श शास्त्री, प्रदेश महिला अध्यक्ष अमृता धवन, प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष रणविजय सिंह लोचव, निगम पार्षद सुरेश कुमार और संतोष, डा0 नरेश कुमार, पूर्व पार्षद मेमवती बरवाला, निर्मला वत्स, किसान सेल चैयरमेन राजबीर सौलंकी, आर्ब्जवर विरेन्द्र शर्मा, अनूप शौकीन और महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, सेवा दल और एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं सहित दिल्ली देहात के निवासी भी भारी संख्या में मौजूद थे।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि सत्ता पूर्व राजधानी में शराब का विरोध करने वाले केजरीवाल ने दिल्ली की सत्ता हासिल करते ही 2015 में ही नशे की राजधानी बनाने का रास्ता तय कर लिया था। आज हमें दिल्ली के घर-घर तक यह बताना है कि केजरीवाल ने स्कूल पढ़कर से निकलने वाले युवाओं को रोजगार की जगह को शराब की ओर धकेल रहे है। निर्भया की पीठ पर बैठकर सत्ता हासिल करने वाले केजरीवाल ने दिल्ली के कौने-कौने में मौहल्ला ठेके खोलकर कांग्रेस सरकार की विकसित दिल्ली को नशे की राजधानी बना दिया है। आज दिल्ली की प्रत्येक महिला स्कूलों, बाजारों, धार्मिक स्थलों और सार्वजनिक क्षेत्रों में शराब की ठेके खुलने के कारण अपनी सुरक्षा के प्रति चिंतित है। महिला सशक्तिकरण की दुहाई देने वाले केजरीवाल ने अभी तक महिलाओं को गुमराह करके सिर्फ अंधकार में रखा है, क्योंकि दिल्ली में प्रतिदिन महिलाओं के प्रति अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × five =