दिल्ली की जनता को केजरीवाल के नाकाम “दिल्ली मॉडल” की हक़ीक़त मालूम इसलिए भाजपा के साथ मिल कर निगम चुनाव टलवाया -चौ. अनिल कुमार

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

नई दिल्ली – दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने कहा कि भाजपा और आम आदमी पार्टी दिल्ली नगर निगमों के चुनावों को स्थगित करने की साजिश रच रही है क्योंकि दिल्ली कांग्रेस द्वारा उनकी विफलताओं, अक्षमता और अधूरेपन के बारे में नियमित रूप से प्रदर्शन किया गया था जिससे दिल्लीवासी भाजपा और आप पार्टी की हकीकत जान चुके है। उन्होंने कहा कि यदि निगम चुनाव समय पर होते हैं तो निश्चय ही कांग्रेस पार्टी ही विजय होगी। उन्होंने कहा कि भाजपा और अरविंद सरकार ने हर क्षेत्र में अपनी लगातार विफलताओं और भ्रष्टाचार से दिल्ली के विकास और प्रगति को तबाह कर दिया।

कुतुब मीनार रेड लाइट चौक में महरौली जिला कांग्रेस द्वारा आयोजित जिला कांग्रेस कमेटी कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए चौ. अनिल कुमार ने कहा कि पिछले सात वर्षों में अरविंद सरकार ने दिल्ली को बेरोजगारी, कोविड-19 महामारी फैलने के हताहत, वायु प्रदूषण, यमुना के प्रदूषण, महिलाओं पर हमलों में “नंबर 1” बना दिया है। उन्होंने कहा कि जनता के पैसे का भारी खर्च सीएम अरविंद ने स्व-प्रचार तथा आप विधायकों और मंत्रियों, पार्षदों और नेताओं को सुख सुविधाऐं देने में किया। आप पार्टी के विधायकों और मंत्रियों के खिलाफ भ्रष्टाचार और आपराधिक मामलों की संख्या बढ़ती ही जा रही है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के युवाओं को बर्बाद करने के लिए मुख्यमंत्री अरविन्द ने दिल्ली को नशे की राजधानी बना हर वार्ड में 3-3 शराब के ठेके खोलकर 849 शराब की नई दुकानें खोल दी है । उन्होंने कहा कि शराब की दुकानें खोलने के कांग्रेस के विरोध को लोगों का व्यापक समर्थन मिला है, जिससे आप और भाजपा नेतृत्व में खलबली मच गई क्योंकि इसका असर एमसीडी चुनावों में दिखाई देगा इसलिए ये दोनों दल चाहते हैं कि एमसीडी चुनाव स्थगित कर दिया जाए।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि अरविंद ने दिल्ली में युवाओं को आठ लाख नौकरियों का वादा किया था, हालांकि पिछले सात वर्षों में वह केवल 440 नौकरियां ही पैदा कर सके, जबकि 14 लाख से अधिक युवाओं ने सरकार के जॉब पोर्टल पर पंजीकरण कराया है। उन्होंने कहा कि 45.6 प्रतिशत पर, दिल्ली में सबसे खराब बेरोजगारी दर है जो राष्ट्रीय बेरोजगारी दर 11.4 प्रतिशत से कई डिग्री अधिक है।

आज के कांग्रेस डिजिटल सदस्यता अभियान को बढ़ावा देने के लिए वर्कर्स कन्वेंशन को संबोधित करने वालों में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार के अलावा पूर्व सांसद रामेश कुमार, जिला अध्यक्ष राजेश चौहान, दिल्ली कांग्रेस के उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक जय किशन, पूर्व विधायक विजय सिंह लोचव, पूर्व विधायक बलराम तंवर, पूर्व विधायक पं. टेक चन्द शर्मा, निगम पार्षद वेदपाल, पूर्व मेयर सतबीर सिंह, पूर्व उप-मेयर प्रवीन राणा, दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्षा अम्रता धवन, दिल्ली युवा कांग्रेस के अध्यक्ष रनविजय सिंह लोचव, एनएसयूआई दिल्ली अध्यक्ष कुनाल सहरावत, जिला प्रभारी धीरज बसोया, पूर्व नगम पार्षदों में पुष्पा सिंह, अनिता सिंह, राजेन्द्री कुमारी, सतीश गुप्ता, मीर सिंह, ओमवती, राजेन्द्र तंवर, जगप्रवेश कुमार, विरेन्द्र शर्मा आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में अपनी चौतरफा विफलताओं को छिपाकर पंजाब के लोगों को गुमराह करने के लिए विकास के दिल्ली मॉडल का झूठा प्रचार किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद मोदी सरकार द्वारा पारित तीन किसान विरोधी कानूनों का समर्थन करने वाले पहले व्यक्ति थे, और हमेशा पंजाब के किसानों को दिल्ली के गंभीर वायु प्रदूषण के लिए दोषी ठहराते रहे है। जबकि प्रदूषण के मुख्य कारण वाहनो से निकलने वाले धुएँ और टूटी सड़कों से उड़ने वाली धूल दिल्ली के वायु प्रदूषण इत्यादि है।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि तदर्थ शिक्षक और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता नौकरियों को नियमित करने और न्यूनतम वेतन निर्धारित करने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन अरविंद सरकार ने उनकी मांगों से मुंह मोड़ लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 − ten =