दिल्ली कांग्रेस चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में किसानों की जीत पर मनाया ‘‘किसान विजय दिवस’’

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

नई दिल्ली – दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल अनिल कुमार ने कहा कि 358 दिनों तक चलने वाले किसान आंदोलन के दौरान हमारे नेता श्री राहुल गांधी जी द्वारा समय-समय पर किसानों के समर्थन में सड़क से संसद तक विरोध करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसान और कांग्रेस के दवाब में आकर तीनों काले कृषि कानूनों को सावर्जनिक रुप से वापस लेने का निर्णय किसानों की जीत है जिसका कांग्रेस पार्टी आज दिल्ली में ‘‘किसान विजय दिवस’’ के रुप में मना रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार संसद में कृषि कानूनों को रद्द करके तुरंत कृषि कानूनों को वापिस ले जिससे धरने पर बैठे किसान अपने-अपने घर जा सकें। क्योंकि किसानों ने साफ कर दिया है कि एमएसपी का निर्णय और बिना संसद में कानून रद्द हुए किसान आंदोलन खत्म नही होगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी शहीद हुए किसानों के परिवारों से माफी मांगे।

प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार, पूर्व सांसद श्री रमेश कुमार और चौ0 तारीफ सिंह, मीडिया कमेटी के चैयरमेन अनिल भारद्वाज, किसानों के नेता पूर्व विधायक विजय लोचव, डा0 नरेश कुमार और किसान कांग्रेस के चैयरमेन राजबीर सौलंकी मौजूद थे।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि अंहिसा के रास्ते पर चलने वाले किसान आंदोलन को भाजपा की अंहकारी, हठधर्मी सरकार ने कुचलने का हर निरंकुश तरीका अपनाया जिसके चलते लगभग 700 से अधिक किसान शहीद हुए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी मांग करती है किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों को 1 करोड़ की सहायता राशि मुआवजे के रुप में दे और आंदोलन के दौरान जिन किसानों, समाजिक व स्वयं सेवी संस्थाओं पर मुकद्में किए गए है, उन्हें तुरंत प्रभाव से वापस लिए जाऐ जिस प्रकार पंजाब के मुख्यमंत्री ने निर्णय लिया है।

चौ0 अनिल कुमार ने किसान आंदोलन की लड़ाई लड़ते हुए राहुल गांधी जी ने संसद में विपक्ष की भूमिका निभाते हुए साफ कर दिया था कि एक दिन केन्द्र सरकार को कानून वापस लेना ही पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सबसे लम्बे समय तक चलने वाले किसान आंदोलन की यह सत्य और न्याय की जीत है जिसने अंहकार को हराकर अन्नदाता किसानों साहित देशवासियों के अधिकारों की लड़ाई को जीता है। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन में लखीमपुर खीरी कांड के बाद भाजपा की दोहरी नीति को उजागर हुआ है। केन्द्र सरकार दोषी केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री को तुरंत बर्खास्त करें।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि आंदोलन में किसानों के साथ हुए अन्याय हुआ है। उन्होंने कहा कि हम दिल्ली के किसानों के हितों की बात कर रहे है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार को मुठ्ठी भर किसानों के आगे आखिर घुटने टेकने पड़े क्यांकि सभी देशवासी उनके साथ खड़े थे। उन्होंने कहा कि कृषि कानून वापस लेने के बावजूद भी भाजपा की आगामी पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों करारी हार होगी। क्योंकि किसान सहित देशवासी भाजपा की दोहरी नीति को समझ चुके है जिसका परिणाम भाजपा के सामने उपचुनावों के परिणामों के बाद आ गया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में नई दिल्ली जिला कांग्रेस के मालवीय नगर विधानसभा में आज किसान विजय दिवस के रुप में यात्रा निकाली गई। यात्रा के दौरान भारी संख्या में मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हाथों में कांग्रेस के झंडे लिए हुए थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की परम्परा रही हैं किसानों के अधिकारों की लड़ाई लड़ने की। उन्होंने कहा कि किसान देश की पहचान है और भारत कृषि प्रधान देश है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रहित में किसानों के हितों की लड़ाई श्री राहुल गांधी जी ने भट्टा पारसोल में भूमि अधिग्रहण कानून वापस करने के लिए सरकार को झुकना पड़ा था और मौजूद किसान आंदोलन के लिए भी 3 से 5 अक्टूबर 202 तक पंजाब और हरियाणा में ट्रेक्टर रैलियां निकाली, संसद में ट्रैक्टर पर पहुचे और राजस्थान में भी रैलियां करी।

चौ0 अनिल कुमार ने आज शाम जंतर मंतर पर किसान आंदोलन में शहीद हुए 700 से अधिक किसानों को श्रद्धाजंलि दी और केंडल मार्च भी निकाला। उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार की नियत साफ है तो किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों को शहीद का दर्जा देकर उनका सम्मान करें। उन्होंने कहा कि किसानों के बलिदान को देशवासियों सहित उनकी पीढ़िया याद रखेंगी। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि किसान आंदोलन के सहयोग में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं ने अहम भूमिका निभाई है।

कैंडल मार्च में किसानों को श्रद्धाजंलि देने वालों में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार, पूर्व सांसद रमेश कुमार, उदित राज और कृष्णा तीरथ, एआईसीसी सचिव तरुण कुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष अभिषेक दत्त, मुदित अग्रवाल और अली मेंहदी, मीडिया कमेटी के चैयरमेन अनिल भारद्वाज, प्रदेश कांग्रेस कोषाध्यक्ष संदीप गोस्वामी, पूर्व विधायक किरण वालिया, हरी शंकर गुप्ता, विजय लोचव, राजेश जैन, दर्शना रामकुमार, जिला अध्यक्ष वीरेंद्र कसाना, जावेद मिर्जा, दिनेश कुमार एडवोकेट, मनोज यादव, विष्णु अग्रवाल, जुबैर अहमद और सतबीर शर्मा, निगम पार्षद प्रेरणा सिंह, डॉ नरेश कुमार, मीडिया कमेटी उपाध्यक्ष परवेज आलम, पूर्व निगम पार्षद परवीन राणा, रमेश पंडित, अशोक जैन, धीरज बसौया, जगजीवन शर्मा, एडवोकेट सुनील कुमार, राजबीर सोलंकी, नरेश शर्मा नीटू मुख्य रुप से शामिल थे।

प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत अभियान की पोल स्वच्छता सर्वेक्षण -2021 में खुली। भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम सबसे निचले पायदान पर।- चौ0 अनिल कुमार

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत अभियान की पोल दिल्ली में भाजपा शासित तीनां नगर निगम खोल रही है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वर्ष देश के शहरों में स्वच्छता सर्वेक्षण -2021 होता है। इस वर्ष भी 48 शहरों में हुए स्वच्छता सर्वेक्षण में भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम सबसे निचले पायदान पर रही। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी के नाक के नीचे राजधानी में जिस स्वच्छता अभियान की शुरुआत की थी।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि 48 शहरों के स्वच्छता सर्वेक्षण में उत्तरी दिल्ली नगर निगम को 45वां स्थान मिला है, पूर्वी दिल्ली नगर निगम को 40वां और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम को 31वां स्थान मिला है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में पिछले 15 सालां में तीनो निगमों में भाजपा की सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार के कारण सफाई व्यवस्था चरमरा गई है। जगह-जगह कूड़े के अम्बार है क्योकि महीनों सफाई कर्मियों को वेतन नही दिया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + thirteen =