कोरोना वैक्सीन की डोज लेने वाले हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज भी हुए कोरोना संक्रमित

रिपोर्ट :- कशिश

हरियाणा :-कोरोना वैक्सीन के फेज-3 ट्रायल में शामिल होने वाले हरियाणा के गृह- स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज कोरोना संक्रमित हो गए हैं। कोरोना वैक्सीन की डोज लेने के बाद भी संक्रमित हो जाने को हेल्थ एक्सपर्ट सामान्य बात बता रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि कभी-कभी कुछ नतीजे उलट भी हो जाते हैं। इस को अंतिम रिजल्ट नहीं माना जा सकता।

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक यदि 100 लोगों को कोरोना वैक्सीन देने के बाद उनमें से 5 को कोरोना हो जाए तो माना जाता है कि वैक्सीन 95 प्रतिशत कामयाब रही। इसी से ये साबित होता है कि वैक्सीन कितनी इफेक्टिव रही। दूसरी बात, इससे ये भी पता चलता है कि वैक्सीन कोरोना के असर को कितना कम कर सकती है।

सिरम इंस्टीट्यूट के अदार पूनावाला ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया था कि उनकी वैक्सीन कोवीशील्ड वायरस के लोड को 60 प्रतिशत कम कर देती है। पूनावाला के मुताबिक ट्रायल के दौरान सभी आयु वर्ग और क्षेत्रों के लोगों को शामिल किया जाता है। इस दौरान उन पर ट्रायल के नतीजों को परखा जाता है। यदि इनमें से अधिकतर लोगों पर ट्रायल का सकारात्मक असर हो तो दवा को सफल मान लिया जाता है।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के कोरोना संक्रमित होने के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने उनके जल्द ठीक होने की शुभकामना दी है। मनोहर लाल खट्टर ने ट्वीट करके कहा कि, ‘गृहमंत्री अनिल विज जी, आपके कोरोना संक्रमित होने का समाचार मिला। मुझे विश्वास है कि आप अपनी दृढ़शक्ति से इस बीमारी को जल्द मात देंगे। ईश्वर से आपके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं’।

वही फुसरी तरफ मंत्रालय ने कहा कि अनिल विज को अभी वैक्सीन की एक ही डोज लगी है। जबकि कोरोना से बचाने वाले एंटीबॉडी को बनने के लिए दो डोज लगनी जरूरी हैं। दोनों डोज लगने के कुछ दिन बाद ही एंटीबॉडी बनती हैं। दूसरी डोज पहली डोज के 28 दिन बाद ही दी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 + one =