जंडियाला गुरु में डेंगू के मरीज़ मिलने के बाद भी नही जागा नगर कौंसिल ,सेहत विभाग ने भी खानापूर्ति ,मरीज़ के घर वालों ने कहा सफाई व्यवस्था का बुरा हाल

रिपोर्ट:- कुलजीत सिंह

जंडियाला गुरु:-जंडियाला गुरु में कल डेंगू के दो मरीज़ पाए गए जिसके चलते आज जंडियाला गुरु की जानिया वाली डिस्पेंसरी कर्मियों ने डेंगू वाले मरीज का घर का सर्वेक्षण किया था और कहा था कि वह फॉगिंग के लिए नगर कौंसिल जंडियाला गुरु को कहेंगे लेकिन देर शाम तक कोई भी नगर कौंसिल कर्मी या अधिकारी इस इलाके में नही आया सेहत विभाग की टीम ने करते हुए कहा कि हमे घर के आसपास साफ सफाई का खास ध्यान रखना चाहिये।

इसके इलावा उन्होंने ने बताया कि डेंगू बुखार डेंगू वायरस के कारण होता है। वह वैज्ञानिक प्रणाली जिसमें वायरस का वर्गीकरण तथा नामकरण किया जाता है उसके अंतर्गत डेंगू वायरस “फ्लाविविरिडे” परिवार तथा “फ्लाविविरस” जीन का हिस्सा है। अन्य वायरस भी इस परिवार से संबंधित हैं तथा मानवों में बीमारियां पैदा कर सकते हैं। उदाहरण के लिये, पीत वायरस, वेस्ट नाइल वायरस ,सेंट लुईस एन्सेफलाइटिस वायरस, जापानी एन्सेफलाइटिस वायरस, टिक जनित एन्सेफलाइटिस वायरस, क्यासानूर जंगल रोग वायरस तथा ओमस्क रक्तस्रावी बुख़ार, सभी “फ्लाविविरिडे” परिवार से संबंधित हैं।.[इनमें से अधिकतर वायरस मच्छरों या टिक द्वारा फैलते हैं।

डेंगू वायरस, अधिकतर एडीज़ मच्छरों द्वारा संचरित (या फैलता) होता है, विशेष रूप से एडीज़ आएजेप्टी प्रकार के मच्छर से ये मच्छर आमतौर पर 350 उत्तर तथा 350 दक्षिण अक्षांस पर, 1000 मीटर से कम ऊपर होते हैं।यह अधिकतर दिन के समय काटते हैं। इनके एक बार काटने से भी मानव संक्रमित हो सकता है।

वहीं घर वालों ने कहा कि सभी खानापूर्ति करते हैं ।इसको पूर्ण रूप से रोकने के लिए ठोस कदम उठाते नही ।उन्होंने कहा कि हमारे मोहल्ले में सफाई कर्मी लगातार आते नही ।जिसके चलते गंदगी फैलती है और मच्छर पनपने का कारण बनती है ।इस मामले में जब नगर कौंसिल के ई ओ से बात करनी चाही तो उन्होंने ने फोन नही उठाया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × four =