कोविड संक्रमण के साथ वायु प्रदूषण की दोहरी मार झेल रही दिल्ली में एक हफ्तें में 5 गुणा सक्रमंण बढ़ा है और मुख्यमंत्री दिल्ली छोड़ चंडीगढ़ में विजय यात्रा निकाल रहे है चौ.अनिल कुमार

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

नई दिल्ली :– दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ.अनिल कुमार ने आश्चर्य जताते हुए कहा कि जब तीसरी लहर की आशंका में देश

सहित राजधानी में कोविड के मामले प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहे है और नए वेरिएंट ओमिक्रॉन संक्रमण में राजधानी देश में नम्बर बन गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल दिल्लीवासियों में कोविड दिशा निर्देश लागू करके नव वर्ष मनाने चंडीगढ़ में निगम चुनावों की जीत का जश्न मनाकर पंजाब में कोविड संक्रमण दिशा निर्देशों का उलंघन कर रहे है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि केन्द्र सरकार ने सभी प्रदेशों को कोविड सहित ओमिक्रॉन संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरस्त करने हेतू जागरुकता बनाने के निर्देश दिए है ताकि कोविड की तीसरी लहर को फैलने से रोकने में लोग जागरुक रहे। परंतु पिछले एक हफ्ते में 5 गुणा संक्रमण दर बढ़ने के साथ कोविड का अधिक प्रकोप झेल रही दिल्ली के मुख्यमंत्री सिर्फ कुछ खास मौको को छोड़कर राजधानी से बाहर रहते है, जिसके कारण दिल्लीवासी भी संक्रमण के तेजी से प्रसार के कारण डरे हुए है। उन्होंने कहा कि केन्द्र और दिल्ली की सरकारों की अनदेखी और स्वास्थ्य अक्षमताओं के कारण पिछले 22 महीनों से कोविड संक्रमण के मामले मे नम्बर वन रही राजधानी के लोगों को महामारी के प्रकोप से सबसे अधिक नुकसान हुआ है।

चौ.अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण का खतरनाक स्तर लगातार बना हुआ जिसके कारण कोविड के मरीजों को अधिक दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल हर समस्या का प्रचार करने में विज्ञापनों के द्वारा करोड़ो रुपये खर्च करते है, परंतु समस्याओं को खत्म करने में कोई संवेदनशीलता नही दिखाते। उन्होंने कहा कि पंजाब में प्रचार की चिंता में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने जिस तरह जल्दबाजी और बिना योजना के राजधानी में येलो अलर्ट जारी किया उसके कारण यातायात व्यवस्था चरमरा गई है और मेट्रो और बस स्टेंडों पर लम्बी-लम्बी लाईने लगी हुई है।

चौ.अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार को परिवहन व्यवस्था को दुरस्त करने के लिए अतिरिक्त बसों की व्यवस्था करनी चाहिए तथा घोषणा के अनुसार दिल्ली सरकार इलेक्ट्रिक बसें डीटीसी बेड़े में जोड़े। उन्होंने कहा कि यदि अरविन्द केजरीवाल की सरकार भ्रष्टाचार करके खास कम्पनियों को निविदा नही करती तो आज दिल्लीवासियों के पास 10000 इलेक्ट्रिक बसे होती जिससे प्रदूषण की समस्या से भी कुछ हद तक निजात मिलती। उन्होंने कहा कि अरविन्द केजरीवाल कोविड संक्रमण के चलते राजधानी की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए तुरंत दिल्ली आए और स्वास्थ्य व्यवस्थाओं और लोगां की परेशानियों के संबध में स्वयं निरिक्षण करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 + 1 =