कांग्रेस ने जिलों में कार्यकर्ता सम्मेलन शुरु करके निगम चुनावों का विगुल बजाया सम्मेलनों में डिजिटल सदस्यता अभियान पर भी जोर

रिपोर्ट :/ नीरज अवस्थी

नई दिल्ली – कांग्रेस डिजीटल सदस्यता अभियान को लेकर और दिल्ली में निगम चुनावों की तैयारी के लिए जिला कांग्रेस कमेटियों में कार्यकर्ता सम्मेलनों की शुरुआत दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व आज करावल नगर जिला कांग्रेस कमेटी में ओम वाटिका, 100 फुटा रोड़, बुराड़ी से हुई। आदर्श नगर जिला कांग्रेस कमेटी में भी एक अन्य कार्यकर्ता सम्मेलन रिंग रोड़, ब्रिटानिया चौक, दादा देवता मंदिर पर आयोजित किया गया। कार्यकर्ता सम्मेलनों में हजारों कांग्रेस एन्रोलरों सहित कार्यकर्ताओं, क्षेत्रीय निवासियों सहित महिलाऐं भी बड़ी संख्या में शामिल हुईं। कार्यकर्ता सम्मेलनों का आयोजन जिला अध्यक्ष आदेश भारद्वाज और मनोज यादव ने किया। कार्यकर्ता सम्मेलनों में जबरदस्त उत्साह था। प्रदेश अध्यक्ष ने मौजूद कार्यकर्ताओं से डिजिटल सदस्य अधिक से अधिक बनाने की अपील की।

करावल नगर और आदर्श नगर जिला कार्यकर्ता सम्मेलनों में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार, पीआरओ एवं पूर्व सांसद पूनम प्रभाकर, पूर्व सांसद जे.पी. अग्रवाल, जगदीश टाईटलर, दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री मंगतराम सिंघल, कम्युनिकेशन विभाग के चैयरमेन एवं पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज, दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमृता धवन, पूर्व विधायक हरी शंकर गुप्ता, श्री जय किशन, शीशपाल प्रदेश उपाध्यक्ष मुदित अग्रवाल, अली मेंहदी, कमलकांत शर्मा, जिला कॉर्डिनेटर हर्ष चौधरी, शांति स्वरुप, ब्लाक अध्यक्ष, युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, सेवादल और एनएसयूआई के कार्यकर्ता भी भारी संख्या में मौजूद थे।

कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि 7 वर्षों के केजरीवाल के विफल शासन और 15 वर्षो से निगम में शासित भाजपा के भ्रष्टाचार से दिल्ली के लोग अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे है तथा निगम चुनावों में कांग्रेस को विकल्प मानकर बदलाव चाहते है। उन्हांने कहा कि कांग्रेस डिजिटल सदस्यों की बढ़ती संख्या दिल्ली में बदलाव के लिए कांग्रेस की जमीन तैयार करेगी। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने अपने निहित स्वार्थ के लिए हर गली मौहल्ले, चौराहे और कौने-कौने पर शराब की दुकाने खोलकर दिल्ली को नशे की राजधानी बना दिया। लगातार झूठ बोलने वाले केजरीवाल ने दिल्ली में रोजगार देने की जगह सिर्फ खोखली घोषणाएं की है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल और निगम शासित भाजपा को सत्ता छोड़ने का आभास हो गया है क्योंकि केजरीवाल बिना विचार किए प्रतिदिन नई-नई घोषणाऐं कर रहे है जबकि दिल्ली भाजपा ने दिल्ली के विकास को छोड़ अपनी राजनीति धर्म पर केन्द्रित कर दी है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि लोगों को रोजगार देने का वादा करके सत्ता में आऐ केजरीवाल ने 7 वर्षों के शासन में दिल्ली के लोगों को बेरोजगारी दर में सबसे निचले स्तर पर लाकर खड़ा कर दिया है और इनके गैर जिम्मेदाराना रवैये के कारण कोविड से प्रभावित दिल्लीवासियों की अनियंत्रित मंहगाई ने कमर तोड़ कर रख दी है। आज सत्ता परिवर्तन और अपने नियमन व समय पर वेतन की मांग को लेकर लगभग 60-70 हजार कर्मचारी दिल्ली की सड़कों पर हड़ताल करके अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी और भाजपा दोनो एक ही सिक्के के दो पहलू है। जहां एक ओर आगनबाड़ी कर्मचारी, गेस्ट टीचर, वोकेशनल टीचर समान काम समान वेतन की मांग को लेकर आंदोलन करने को मजबूर है वहीं भाजपा शासित निगम के शिक्षकों, डाक्टरों नर्सों, पेरा मेडिकल स्टॉफ सहित सफाई कर्मचारियों को नियमित करने और समय पर वेतन, भत्ता और पेन्शन भुगतान तुरंत जारी करने के लिए उच्च न्यायालय ने तीनों निगमों को चेतावनी देते हुए नियमित भुगतान का स्थाई समाधान निकालने के लिए कारगर कदम उठाने को कहा है। उन्होंने कहा कि 15 वर्षों से निगमों में व्याप्त भ्रष्टाचार के कारण सफाई कर्मचारी समय पर वेतन नही मिलने के कारण लगातार हड़ताल करते रहे है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि आम आदमी पार्टी और भाजपा की दिल्लीवासियों के प्रति नकारात्मक सोच के कारण राजधानी का विकास पूरी तरह ठप्प पड़ा है और दिल्ली बदहाल हो चुकी है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान का नारा देने वाली भाजपा के भ्रष्ट तीनों निगमों के कारण राजधानी में गंदगी का अड्डा बन चुकी है। प्रत्येक वर्ष देश के शहरों में स्वच्छता सर्वेक्षण -2021 में इस वर्ष 48 शहरों में हुए स्वच्छता सर्वेक्षण में भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम सबसे निचले पायदान पर रही, जो प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छता अभियान की पोल खोलता है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली के लोग भाजपा के भ्रष्टाचार और आम आदमी पार्टी स्वार्थ व झूठे वायदों की सरकार को नकार कर कांग्रेस की ओर देख रहे है, क्योंकि कांग्रेस की 15 वर्षों की दिल्ली सरकार ने राजधानी में अभूतपूर्व विकास किया था, दिल्लीवासी कांग्रेस शासन को दोहराना चाहते है। उन्होंने कहा आगामी दिल्ली नगर निगम चुनाव-2022 कांग्रेस का होगा और सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में कांग्रेस दिल्ली में एक नई शक्ति के रुप में उभर कर सामने आऐगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + four =