कांग्रेस के जल्दी ही दो फाड़ होने की संभावना-अनुराग ठाकुर

रिपोर्ट -अर्चना

नई दिल्ली:- केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को राजनीतिक तौर पर नौसिखिया बताते हुए कहा कि यदि समस्याओं को जाने बिना गांधी परिवार काम करता रहा, तो आने वाले समय में कांग्रेस के दो फाड़ हो जाएंगे। प्रदेश भाजपा की ओर से महिला उद्यमियों के लिए बजट 2021-22 पर चर्चा के लिए आयोजित सम्मेलन में श्री ठाकुर ने बजट को देश और समाज के हर वर्ग के लिए लाभप्रद एवं आत्मनिर्भरता की ओर ले जाने वाला बताते हुए कहा कि मोदी है तो मुमकिन है।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस के नेता किसान मुद्दे पर मोदी सरकार को हर रोज आड़े हाथों लेते हैं, लेकिन कांग्रेस का कोई भी सांसद एक कारण नहीं बता पाया कि कृषि कानूनों में खराबी क्या है और किस नियम के तहत वे मंडी बंद हो जाने की बात कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान मुद्दे पर सिर्फ भ्रम फैलाया जा रहा है और वह भी उन नेताओं द्वारा जो ज्वार और गेहूं का फर्क नहीं जानते। कांग्रेस में दो खेमे बन गए हैं, एक जो झूठ के साथ है और दूसरा जो सच के साथ है। ऐसे में आने वाले समय में कांग्रेस दो फाड़ हो जाए तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए। गांधी परिवार का काम केवल समस्याएं पैदा करना और देश के हर वर्ग को धोखा देकर लूटने का है। इनका नारा है कि “ऐसा कोई बचा नहीं जिसको हमने ठगा नहीं”। ये जमीनी नेता अब जमीन हड़पने वाले नेता बन गये हैं, वे हर जगह जमीन हड़प रहे हैं। इसी को देखते हुए जनता ने इनकी जमीन उखाड़ दी है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता की अध्यक्षता में हुए इस सम्मेलन में महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वानती श्रीनिवासन, प्रदेश उपाध्यक्ष बरखा सिंह, मीडिया प्रमुख नवीन कुमार, प्रदेश मंत्री सुनीता कांगड़ा एवं नीलम धीमान, प्रदेश प्रवक्ता निघत अब्बास, नेहा शालिनी दूआ, सारिका जैन एवं पूजा सूरी उपस्थित रही। प्रदेश महामंत्री और कार्यक्रम के संयोजक कुलजीत सिंह चहल ने बताया कि पार्टी की ओर से बजट को लेकर छह कार्यक्रम हो चुके हैं। समाज के विभिन्न वर्गों के जुड़े लोगों ने इनमें भाग लिया और यह अभियान अभी आगे भी जारी रहेगा। मंच का संचालन प्रदेश महिला मोर्चा की अध्यक्ष योगिता सिंह ने किया।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि आपदा काल में लाया गया यह एक बेहतरीन बजट है और इसका मकसद भारत की आर्थिक व्यवस्था को आने वाले समय में पांच खरब की ओर विश्व की बेहतरीन अर्थव्यवस्था बनाना है। उन्होंने बजट में महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर जोर देते हुए कहा कि हर घर तक नल से पीने का साफ पानी पहुंचाने, आवास सुलभ कराने, युवाओं के उनके मनपसंद क्षेत्रों में कुशल बनाकर स्वरोजगार बढ़ाने, महिला एवं बाल विकास, पोषण, आंगनवाड़ी, विद्यालयों, बुजुर्ग महिलाओं तक नकद लाभ पहुंचाने जैसे कार्य इस बजट में शामिल है। उन्होंने पांच लाख रुपये तक की स्वास्थ्य बीमा योजना, उज्जवला योजना का विस्तार, महिला उद्यमियों के लिए प्रशिक्षण एवं बैंक ऋण सुविधा का विस्तार से उल्लेख किया।

सम्मेलन में महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वानती श्रीनिवासन ने कहा कि मोदी सरकार ने महिलाओं को हर क्षेत्र में सशक्त करने का काम किया है। महिला वर्ग के लिए अब इतनी योजनाएं चलाई जा रही हैं और उनके हाथ में सीधे पैसे भी पहुंच रहे हैं जिससे वे वास्तव में ‘लक्ष्मी’ बन गई हैं। अब घर के पुरुष उन्हें लक्ष्मी के रुप में देखते हैं और उनका सम्मान करते हैं। ये सब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच का परिणाम है। उन्होंने कहा कि मुद्रा लोन की भी ज्यादा लाभ महिलाओं को मिला है और 70 प्रतिशत ऋण महिला कारीगरों को दिया गया है। इससे न केवल महिला अपने पैरों पर खड़ी होगी बल्कि इससे परिवार एवं समाज की बेहतरी होगी।

प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि मोदी सरकार स्त्री-पुरुष को दो पंख मानती है। एक पंख से उड़ान नहीं भरी जा सकती है इसलिए बजट में महिलाओं की स्थिति में हर तरह का सुधार लाने और उन्हें आर्थिक तौर पर स्वतंत्र बनाने के ऐसे प्रावधान किए गए हैं जिससे उन्हें मुख्यधारा में जोड़ा जा सके। उन्होंने बजट को देश के नवनिर्माण और स्वदेशी को बढ़ावा देने वाला बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री चाहते हैं कि हमारे देश के युवा-युवती नौकरी मांगने वाले नहीं बल्कि नौकरी देने वाले बने।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight − 2 =