कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मनीष सिसोदिया के इस्तीफे की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी कार्यालय का घेराव करके विरोध प्रदर्शन किया

नई दिल्ली – दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के निर्देशानुसार आज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी की केजरीवाल सरकार की आबकारी की नीति के खिलाफ चल रही सीबीआई जांच के शुरुआत में ही भ्रष्टाचार उजागर होने के बाद आम आदमी पार्टी कार्यालय का घेराव किया और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की बर्खास्तगी की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस कार्यकर्ता हाथों मे नारे लिखी तख्तियां ’’भ्रष्टाचार सरकार को बर्खास्त करो-बर्खास्त करो’’, ‘‘अब तो यह स्पष्ट है केजरीवाल भ्रष्ट’’ आदि नारे लगा रहे थे।

प्रदर्शनकारियों में पूर्व सांसद संदीप दीक्षित, डा0 उदित राज, पूर्व मंत्री किरण वालिया, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक जय किशन, प्रदेश कांग्रेस कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन एवं पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज, प्रपूर्व विधायक चौ0 मतीन अहमद, विजय लोचव, हरी शंकर गुप्ता, मालाराम गंगवाल, महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमृता धवन, डा0 नरेश कुमार, कम्युनिकेशन विभाग के वाईस-चेयरमैन परवेज आलम, जिला अध्यक्ष जावेद मिर्जा, मनोज यादव, राजेश चौहान, विष्णु अग्रवाल, मदन खोरवाल, आदेश भारद्वाज, सतबीर शर्मा और धर्मपाल चंदेला, सेवादल अध्यक्ष सुनील कुमार, शिवम भगत, अब्दुल वाहिद कुरेशी सहित सभी जिला अध्यक्ष भी मौजूद थे।

पूर्व सांसद श्री संदीप दीक्षित ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा लागू आबकारी नीति में भ्रष्टाचार साबित होने के बाद सीबीआई जांच के शुरु होते ही केजरीवाल की आम आदमी पार्टी पूरी तरह से बौखला गई है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल अनुसार जब आबकारी नीति में कोई भ्रष्टाचार नही हुआ था तब सीबीआई जांच की सिफारिश के तुरंत बाद दिल्ली सरकार ने शराब नीति को तुरंत वापस क्यों लिया? केजरीवाल सरकार की शराब नीति में हुए भ्रष्टाचार का खुलासा होने बाद केजरीवाल सहित मनीष सिसोदिया का जेल जाना तय है। श्री संदीप दीक्षित ने मांग की कि आबकारी नीति में हुए भ्रष्टाचार की जांच के लिए आयोग का गठन किया जाए और जांच को अंत तक लेकर जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि संभवतः जांच के बीच में किसी डील के होने की आशंका है क्योंकि ऐसे कई मुद्दे जिन पर भाजपा और आम आदमी पार्टी मिलीभगत के तहत एक साथ खड़ी दिखाई दी है। श्री दीक्षित ने कहा कि यह संघर्ष का समय है और साफ सुथरी राजनीति को स्थापित करने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संघर्ष जारी रखना होगा क्योंकि केजरीवाल द्वारा अपनी गई राजनीति से पूरा वातावरण दूषित हो चुका है।

डा0 उदित राज ने कहा कि भ्रष्टाचार खत्म करने की बात करने वाले केजरीवाल राजनीति में आने से पहले से ही भ्रष्ट है। भ्रष्टाचार मुक्ति को बेहरुपिया चेहरा लेकर केजरीवाल ने हमेशा लोगों को गुमराह करने का काम रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली भ्रष्ट सरकार और उनके भ्रष्ट मंत्रियां के पापों का घड़ा भर चुका है। केजरीवाल सरकार द्वारा शराब नीति में हुए भ्रष्टाचार का कोई पहला मामला नही है इससे पूर्व भी भारी भ्रष्टाचार हुए है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को मालूम है कि शराब नीति लागू करने और लाईसेंस आवंटित करने में उन्होंने शराब माफिया को अतिरिक्त लाभ पहुॅचाया है जिससे राजस्व में भारी घाटा हुआ है, इसलिए ही सीबीआई जांच की सिफारिश के तुरंत बाद ही शराब नीति को वापस ले लिया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल अब मनीष सिसौदिया को जेल जाने से बचाने की औपचारिकताऐं निभा रहे है क्योंकि आरोप साबित होने के बाद जेल जाने से सिसोदिया को कोई रोक नही सकता।

श्री अनिल भारद्वाज ने मनीष सिसोदिया के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि केजरीवाल की शराब नीति का विरोध कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में पहले दिन से ही कर रहे है। यह कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लगातार विरोध का ही परिणाम रहा कि उपराज्यपाल ने सीबीआई जांच के आदेश जारी किए। उन्होंने कहा कि जब केजरीवाल बार-बार आबकारी नीति को अच्छी पालिसी कह रहे है तो उसे वापस क्यों लिया गया और पुरानी नीति को लागू करने के आदेश क्यां जारी किए गए? उन्होंने कहा कि सरकार ने आबकारी नीति को लागू करने से पूर्व कहा था कि इस नीति के लागू होने से राजस्व में बढ़ोत्तरी होगी परंतु सरकार को हजारों करोड़ के रिवेन्यू का लॉस हुआ, जो जांच का विषय है। उन्होंने मांग की कि सीबीआई जांच निष्पक्षता से होनी चाहिए और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल मनीष सिसोदिया को तुरंत प्रभाव से उप मुख्यमंत्री पद से निष्कासित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × four =