कस्तूरबा नगर बलात्कार केस में दिल्ली सरकार का विलम्ब- ‘खेदजनक’: डॉ. जौली

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

नई दिल्ली :- वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ. विजय जौली ने पूर्वी दिल्ली के कस्तूरबा नगर में 20 साल की महिला से सामूहिक बलात्कार पर मुख्यमंत्री केजरीवाल, दिल्ली सरकार द्वारा विलम्ब से प्रतिक्रिया व आर्थिक सहायता देने पर कड़ी आलोचना की।

डॉ जौली ने आरोप लगाते हुए बताया कि दुर्घटना 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर हुई थी। 7 दिन बीत जाने के बाद भी न तो क्षेत्रीय आम आदमी पार्टी विधायक और न ही मुख्यमंत्री पीड़िता से मिले। और न ही उससे मिलकर सहानुभूति व्यक्त की। लेकिन औपचारिक सहानुभूति दर्शाते हुए विलंब से आंशिक आर्थिक सहायता की घोषणा मात्र कर दी। भाजपा नेता डॉ. जौली ने इसे दुःखद व दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

आज डॉ. जौली ने घायल व प्रताड़ित 20 वर्षीय युवती के लिए दिल्ली सरकार से 50 लाख रू0 की आर्थिक सहायता व उसकी सुरक्षा तथा रहने के लिए घर उपलब्ध कराने की मॉग की। डॉ. जौली ने भविष्य में ऐसी दुर्घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए अपराधियों पर गैंगस्टर अधिनियम के प्रावधानों को सख्ती से लगाने की मांग दिल्ली पुलिस से की।

ज्ञात रहे पिछले सप्ताह भारत की राजधानी पूर्वी दिल्ली के कस्तूरबा नगर की सड़कों पर स्थानीय अपराधियों द्वारा 20 साल की युवती का दिन में अपहरण कर, उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था। युवती के सर के बाल काट कर, उसके चेहरे पर कालिख पोती गई तथा उसके गले में जूतों की माला भी पहनाई गई थी। स्थानीय अपराधियों के डर से कोई भी दिन दहाड़े उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया।

भाजपा नेता डॉ जौली ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस प्रकार की घिनौनी व दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं आम आदमी पार्टी के समर्थकों, नेताओं व अपराधियों के बीच सॉठ-गॉठ का नतीजा है। जिसके चलते दिल्ली सरकार की नांक के नीचे ऐसी अमानवीय घटनाओ के अपराधिक मामले दिल्ली में बढ़ रहे हैं। और मुख्यमंत्री आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति करने में व्यस्त हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − eleven =