उत्तरी दिल्ली में प्रदूषण के खिलाफ पहले राहगीरी दिवस का हुआ आयोजन, केजरीवाल सरकार के जन आंदोलन में शामिल हुए बुराड़ी के लोग

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

e

नई दिल्ली:-दिल्ली सरकार के थिंक टैंक डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन ने राहगीरी फाउंडेशन और डब्ल्यूआरआई इंडिया के सहयोग से रविवार को पहला ‘राहगीरी दिवस’ आयोजित किया। यह कार्यक्रम बुराड़ी विधायक संजीव झा और दिल्ली सरकार की पर्यावरण सलाहकार रीना गुप्ता की उपस्थिति में आयोजित किया गया।

बुराड़ी की बाबा कॉलोनी से प्रधान कॉलोनी तक की पुश्ता रोड कुछ घंटों के लिए बंद कर दी गई, ताकि स्थानीय निवासी बड़ी संख्या में मनोरंजन के लिए इसका इस्तेमाल कर सकें। यह लोगों में स्वास्थ्य, फिटनेस, एकजुटता और आनंद को बढ़ावा देता है। राहगीरी दिवस के दौरान साइकिलिंग, स्केटिंग, खेल, नुक्कड़ नाटक, संगीत बैंड, पेंटिंग, नृत्य, प्रदर्शन कला, योग, एरोबिक्स, ज़ुम्बा आदि मनोरंजक गतिविधियों में हजारों स्थानीय निवासियों और स्कूली बच्चों ने भाग लिया और अपने हिस्से के प्रदूषण को कम करने का संकल्प लिया। दिल्ली सरकार के स्कूली छात्रों ने पर्यावरण और पृथ्वी के भविष्य को लेकर रचनात्मक तरीके से चिंता व्यक्त की, जिसने लोगों का ध्यान आकर्षित किया।

बुराड़ी विधायक संजीव झा लोगों में स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए साइकिल रैली में शामिल हुए। दिल्ली में प्रदूषण के खिलाफ चल रहे जन आंदोलन में बुराड़ी के लोगों के शामिल होने का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदूषण हम सभी को प्रभावित करता है। ‘राहगिरी दिवस’ जैसी पहल लोगों को उनकी समान समस्याओं के लिए एकजुट होने का अवसर प्रदान करती है। चूंकि स्थानीय लोग ‘राहगिरी दिवस’ पर एक-दूसरे से व्यक्तिगत बातचीत करते हैं, इसलिए उन्हें अपने हितों को पहचानने और प्रदूषण को कम करने के लिए रणनीति बनाने का अवसर मिलता है। बुराड़ी के लोगों को भी यमुना का आशीर्वाद प्राप्त है। दिल्ली में प्रदूषण कम करने के बुराड़ी वासियों के उत्साह ने आश्वस्त किया है कि हम इसी तरह एकजुट होकर यमुना को साफ करेंगे।

इस दौरान दिल्ली सरकार की पर्यावरण सलाहकार रीना गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों को प्रोत्साहित करके दिल्ली को दुनिया का सबसे हरा-भरा और स्वच्छ शहर बनाने की दृष्टि से युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध अभियान की शुरुआत की। ऐसे में डीडीसी दिल्ली ने प्रदूषण को कम करने के लिए लोगों को एक साथ लाने के लिए ‘राहगीरी’ की शुरुआत की। यह कार्यक्रम संदेश देता है कि यदि हम प्रदूषण को कम करना चाहते हैं तो हमें निजी वाहनों पर निर्भर रहना बंद करना होगा। पटपड़गंज, नजफगढ़, सीआर पार्क और अब बुराड़ी में स्थानीय लोगों के उत्साह को देखकर हम आश्वस्त हैं कि इस तरह की पहल का नेतृत्व पूरी तरह से समाज द्वारा किया जाना चाहिए। डीडीसी की ओर से जल्द एक गाइडबुक जारी की जाएगी, ताकि लोग अपने आसपास ‘राहगीरी दिवस’ आयोजित करने की पहल कर सकें।

युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध अभियान का उद्देश्य लोगों को प्रदूषण कम करने के लिए जागरूक करना है। जिससे की लोग रेड लाइट पर वाहन के इंजन को बंद करें, निजी वाहनों के उपयोग को कम करें और प्रदूषण पैदा करने वाली गतिविधियों की ग्रीन दिल्ली ऐप पर रिपोर्ट करें। दिल्ली के प्रदूषण को कम करने के लिए लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए डीडीसी की ओर से यह चौथा राहगीरी दिवस आयोजित किया गया था। इससे पहले पटपड़गंज, नजफगढ़ और सीआर पार्क में कार्यक्रम आयोजित किए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 4 =