आधुनिक लाइफस्टाइल के कारण कैसे प्रभावित हो रहा है हमारा स्वास्थ्य, जानिए लाइफस्टाइल के कारण होने वाली पांच बड़ी बीमारियों के बारे में

रिपोर्ट :- प्रिंस बहादुर सिंह

नई दिल्ली :-आधुनिक लाइफस्टाइल के कारण कैसे प्रभावित हो रहा है हमारा स्वास्थ्य, जानिए लाइफस्टाइल के कारण होने वाली पांच बड़ी बीमारियों के बारे में ।

कहते हैं कि बदलाव प्रकृति का नियम है और इंसानों के जीवन और विकास के लिए यह बेहद जरूरी है। मगर इंसानी जीवन में कुछ ऐसे बदलाव हैं जो सीधे इंसान के स्वास्थ्य पर असर करते हैं ऐसे बदलाव कुछ तो मजबूरियों के कारण हमारे जीवन में आए हैं या फिर हमने आधुनिक जीवन शैली के नाम पर उन्हें अपना लिया है। आधुनिक जीवन शैली के कारण आए तमाम बदलावों का सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है। गलत खानपान और भागदौड़ समेत तमाम आधुनिक जीवन शैली के ऐसे बदलाव जो सीधे हमारे स्वास्थ्य पर असर करते हैं उनके बारे में आइए जानते हैं।

अनियंत्रित आधुनिक खान-पान और उन से होने वाली बीमारियां
आधुनिक जीवन शैली के नाम पर इंसानी जीवन में आए बड़े बदलाव में से एक है खान-पान संबंधी बदलाव। यूं तो देखने में यह एक गंभीर मामला नहीं लगता मगर हाल के कुछ उदाहरण उठाकर देखें तो समझ आएगा कि खानपान संबंधी रोजमर्रा की आदतों ने इंसानी जीवन में कई तरह के गंभीर बीमारियों को जगह दी है। दुनिया में की गई तमाम प्रकार की रिसर्च को देखें तो मालूम पड़ेगा खानपान का प्रभाव सीधे हमारे उम्र पर पड़ रहा है कुछ रिसर्च की मानें तो बदलते खानपान ने लोगों को समय से पहले बूढ़ा करना शुरू कर दिया है। इसका सीधा कारण है असंतुलित आहार आधुनिक जीवन चर्या में लोग संतुलित आहार लेने में कोताही बरतते हैं और यह सीधे हमारी उम्र पर असर करता है। असंतुलित खानपान से शरीर में कई अन्य प्रकार की बीमारियां भी पैदा हो सकती हैं जैसे कि रक्तचाप और हृदय संबंधी बीमारियां।

अर्थराइटिस यानी गठिया

अर्थराइटिस यानी घटिया एक ऐसी बीमारी है जिसके बारे में लोगों को बुनियादी जानकारी काफी कम है और इस कारण से इसके इलाज में भी काफी लापरवाही की जाती है। अर्थराइटिस का अर्थ है शरीर के जोड़ों में दर्द होना और इस रोग का देसी नाम घटिया भी है। स्वास्थ्य क्षेत्र में की गई तमाम रिसर्च की माने तो अर्थराइटिस जैसी गंभीर बीमारी गलत खानपान और भागदौड़ की उपज है। भारत में भी अर्थराइटिस के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं और इसका सीधा कारण गलत खानपान और भागदौड़ की दिनचर्या बताया जाता है।

यौन संबंधी रोग

आधुनिकता की दौड़ में जी रहा इंसान अनियमित जीवन शैली के पास में बनता चला जा रहा है और यही कारण है कि आधुनिकता की अंधी दौड़ और अनियमित जीवन चर्या ने हमारे स्वास्थ्य और सेक्स लाइफ को भी प्रभावित किया है। अनियमित जीवन चर्या के कारण हमारे स्वास्थ्य और सेक्स लाइफ पर जानलेवा बीमारियों भाइयों रोगों का प्रकोप लगातार बढ़ता जाता है। हाल ही में किए गए एक रिसर्च की माने तो आधुनिक जीवन चर्या के प्रभाव में 80% लोग किसी न किसी प्रकार के यौन रोगों के शिकार पाए गए हैं। एचआईवी एड्स से लेकर तमाम अन्य यौन रोग इस आधुनिक जीवन चर्या की ही देन है।

हृदय संबंधी बीमारी

आधुनिकजीवन शैली और इंसानी जीवन में आए बदलाव के कारण होने वाले रोगों में दिल की बीमारी भी प्रमुख रोग है। इसका सबसे बड़ा कारण कोलेस्ट्रॉल और शरीर में ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर में वृद्धि होना है। गैर संयमित खानपान और जंक फूड की खपत के कारण भी इस रोग का खतरा इंसान को रहता है। आधुनिक जीवन में धूम्रपान और शराब की लत भी इस रोग के खतरे को दावत देती है। कई अध्ययन की माने तो युवा वयस्कों में इस बीमारी के बढ़ने का प्रमुख कारण धूम्रपान और शराब की लत भी है।

मोटापा

मोटापा भी एक हानिकारक बीमारी है और इस बीमारी का सबसे प्रमुख कारण आधुनिक जीवन शैली में आए बदलाव ही है। असंतुलित खानपान धूम्रपान निष्क्रियता आदि के चलते विशेष रूप से युवा पीढ़ी आज इस बीमारी से जूझ रही है। मोटापा के कारण शरीर में मधुमेह हृदय रोग जैसी अन्य बीमारियां भी पैदा हो सकती हैं। मोटापा जैसी बीमारियां देश के युवाओं को सबसे ज्यादा चपेट में ले रही हैं और इसका सीधा कारण है असंतुलित भोजन, जंक फूड का अधिकतम इस्तेमाल और धूम्रपान तथा शराब का सेवन।

मधुमेह

भारत दुनिया के मधुमेह की राजधानी के रूप में भी जाना जाता है भारत में इस भयानक बीमारी से पीड़ित लोगों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। टाइप 2 मधुमेह शरीर में उच्च रक्त शुगर के स्तर के कारण होता है और इस प्रकार की बीमारियों के बढ़ने का सबसे प्रमुख कारण धूम्रपान, मोटापा और निष्क्रिय जीवनशैली जैसे विभिन्न आधुनिक कारणों को माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 14 =