अरविंद केजरीवाल सरकार ने मुफ्त पानी योजना के लिए अवैध रूप से लगभग 600 नलकूप खुदवाय जिनसे निकलने वाला पानी जहरीला

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

नई दिल्ली–दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने कहा कि अब यह पूरी तरह से साबित हो गया है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद की तथाकथित मुफ्त पानी देने की योजना दिल्लीवासियों के साथ किया गया एक बड़ा धोखा है क्योंकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद ने अपनी मुफ्त पानी योजना के लिए अवैध रूप से लगभग 600 नलकूप खुदवाए जिनसे निकलने वाला पानी जहरीला और बीमारी का स्रोत है और दिल्ली के नौ जिलों में जल का स्तर खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है, जिसको लेकर भारत के सर्वाच्च न्यायालय ने भी चिंता व्यक्त की है, और जमीनी पानी के अनियंत्रित दोहन पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश दे दिया है।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अन्य राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव वाले राज्यों में जाकर दिल्ली में मुफ्त जलापूर्ति योजना व दिल्ली विकास मॉडल की झूठी तस्वरी दिखाने व शेखी मारने में शर्म आनी चाहिए क्यूँकि दिल्ली के प्रतिष्ठित क्षेत्रों में भी पाइप से आने वाले पीने के पानी की आपूर्ति के लिए अन्य राज्यों पर निर्भर है।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि यह भी सामने आया है कि नौ जिलों से निकाला गया भूजल मानव उपभोग के लिए अनुपयुक्त है क्योंकि इसमें हानिकारक और जहरीले पदार्थ पाए गए है जिससे लोगों को गंभीर बीमारी हो रही है, इसके अलावा यह डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी वेक्टर जनित बीमारियों के लिए प्रजनन के रूप में कार्य करता है। चौ. अनिल कुमार ने कहा कि माह जनवरी में भी डेंगू के मामले और मौतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची थी, जिससे दिल्ली उच्च न्यायालय को हस्तक्षेप करना पड़ा।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद पिछले कई हफ्तों से दिल्ली से गायब हैं, क्योंकि वह पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और यूपी में होने वाले विधानसभा वाले क्षेत्रों में आपने चुनाव प्रचार व प्रसार के लिए दौरे में व्यस्त हैं, वहां पानी और बिजली समेत हर चीज मुफ्त देने का झूठा वादा कर रहे हैं, जबकि इन्ही सब सुविधाओं के लिए दिल्लीवासी गंभीर रूप से परेशानियों से जूझ रहे हैं लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दिल्लीवासियों की दुर्दशा के बारे में तनिक भी चिन्ता नहीं हैं वे तो सिर्फ अपने राजनीतिक उद्देश्यों के लिए अन्य राज्यों में भ्रमण कर रहे है।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि 600 से अधिक नलकूपों की खुदाई आम आदमी पार्टी के विधायकों द्वारा नियंत्रित टैंकर माफिया की मदद करने के लिए थी, जो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ सांठ-गांठ करते हैं, क्योंकि टैंकर माफिया अनधिकृत कॉलोनियों और जेजे कॉलोनियों में पानी की आपूर्ति को नियंत्रित व बाधित कर गरीब लोगों को अपने उच्च दामों पर पीने का पानी उपलब्ध कराते है।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली की जीवन रेखा मानी जाने वाली यमुना नदी एक स्थिर नाला बन गई है, और इसका गंदा पानी रिसाईक्लिंग करके फिर से उपयोग करने के लायक भी रह गया है, लेकिन अरविंद की नदी को फिर से जीवंत करने और इसे साफ करने की कोई योजना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve − ten =