अब पीस पार्टी के निशाने पर भाजपा, राष्ट्रीय प्रवक्ता ने निकाला नफरत का गुबार

रिपोर्ट :- शाबान मालिक

उत्तर प्रदेश :-पश्चिम उत्तर प्रदेश के मेरठ में प्रथम चरण का मतदान आगामी 10 फरवरी को होना है। इसके चलते इलाके में चुनाव प्रचार में तेजी आ चुकी है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज मेरठ का दौरा किया और कैंट विधानसभा क्षेत्र में डोर टू डोर जाकर प्रत्याशी अमित अग्रवाल के समर्थन में जनता से वोट देने की अपील की।

जहां एक ओर मुख्यमंत्री को देख कार्यकर्ताओं और जनता ने खुशी जताई, वहीं दूसरी ओर पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शादाब चौहान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर नफरत के किसी गुबार जैसे बरस पड़े। प्रवक्ता द्वारा इतिहास को जिंदा कर योगी को तमाम धमकियाँ और चुनौतियाँ भी दी गई हैं। देसी माइक्रो-ब्लॉगिंग मंच कू ऐप पर साझा किए उनके वीडियो में इसे साफ देखा जा सकता है।

इससे पहले शादाब ने अपनी पोस्ट में चुनौती देते हुए कहा है, “सुनो @myogiadityanath जी, मेरे मेरठ में अहंकार मत दिखाना वरना हम अहंकारी #चर्बी उतारना जानते हैं।
यहाँ किसान, महिला, युवा, गरीब, पिछड़ों, मुसलमानों के खिलाफ कुछ मत बोलना, अंग्रेजों के अहंकार और अन्याय की चर्बी भी हम मेरठवासियों ने उतारी थी।
जनता से नाकामी के लिए माफी मांगो नफरत की जगह।”Koo Appसुनो @myogiadityanath जी मेरे मेरठ में अहंकार मत दिखाना वरना हम अहंकारी #चर्बी उतारना जानते हैं. यहां किसान,महिला,युवा,गरीब,पिछड़ों मुसलमानों के खिलाफ कुछ मत बोलना अंग्रेजों के अहंकार और अन्याय की चर्बी भी हम मेरठवासियों ने उतारी थी. जनता से नाकामी के लिए माफी मांगो नफरत की जगह View attached media contentEr shadab Chauhan (@shadab_chouhan) 1 Feb 2022

वीडियो में दिखाई योगी के लिए जबर्दस्त नफरत

पीस पार्टी के प्रवक्ता को वीडियो में यह कहते हुए सुना जा सकता है कि आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हमारी क्रांतिकारी धरती मेरठ आ रहे हैं। मुख्यमंत्री जी यह मेरठ है, यहाँ अहंकार, नफरत, किसान विरोधी, महिला विरोधी, युवा विरोधी, जन विरोधी और बांटने की बात मत करना, क्योंकि जिसे अहंकार और नफरत की चर्बी चढ़ जाए, उसे उतारने की हिम्मत यहाँ की जनता रखती है। अंग्रेजों को भी बहुत चर्बी चढ़ी थी कि जो हम चाहेंगे वह होगा, अन्याय और अत्याचार करते थे, उनकी सारी चर्बी हमने उतार दी थी। आप भी ऐसा मत कर देना, यह चुनौती है।

पंगा न लेने की धमकी

उन्होंने आगे कहा कि सुना है आपको शिमला से बड़ी मोहब्बत है और आप शिमला बनाते हैं, तो याद रखिए कि हम भी गाजर का गुड़गाँव और गाजियाबाद बनाते हैं। पूरी लाइन बोलूँगा, तो लोग कहेंगे कि क्या बोल दिया। इसलिए हमसे बोलने में पंगा मत लेना योगी जी। यह अहंकार छोड़कर यहाँ आना, यह मेरठ है, क्रांतिकारियों की धरती है। अंग्रेज नहीं ठहरे, तो आप कौन होते हैं। वो तो कहते थे कि भारतीय इस रोड पर चल ही नहीं सकते, आज यहाँ भारत की सेना और लोग गर्व से चलते हैं।

चुनौतियों की बरसात

शादाब चौहान ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री जी आप 80 बनाम 20 करोगे, तो मेरठ की जनता कहेगी कि मेरठ का इतिहास 5 बनाम 100 का है। यहाँ के इतिहास से मत टकराना। जो चर्बी आपको चढ़ी है, उसे सियासी तौर पर जनता उतारने जा रही है। अहंकार छोड़िए, और प्रेम के भाव से सर्व भाव की बात करिए।

पत्रकारों को कहा पत्तलकार

शादाब चौहान यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि चुनाव का मतलब यह नहीं है कि आप नफरत बोओगे। जो भी कोई नफरत बोएगा, उसका इलाज जनता करेगी। कुछ पत्रकार हैं, उन्हें मैं पत्तलकार कहूँगा, वो लोग नफरत में डूबकर जो चाटुकारिता कर रहे हैं न बीजेपी की, याद रखना यदि तुम दंगे करवाना चाहते हो, तो हम दंगों की आड़ में सत्ता तक पहुँचने में तुम्हारी मदद नहीं होने देंगे।

धर्म पर भी उठाई अंगुली

उन्होंने कहा कि अमित शाह कहते हैं कि दंगे हो जाएँगे, यह कह कर दंगों की धमकी देना चाहते हैं क्या? क्यों जलाना चाहते हो मेरे उत्तर प्रदेश को। उत्तर प्रदेश सबका है, याद रखिए, कोई गुजराती उत्तर प्रदेश को जलाएगा, तो हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।

मुख्यमंत्री के मेरठ दौरे पर जनता फूली नहीं समाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैंट विधानसभा क्षेत्र के कंकरखेड़ा में प्रचार किया। मुख्यमंत्री को अपने बीच देखकर कार्यकर्ताओं के साथ आम लोगों में भी उत्साह देखने को मिला। जनता ने कहा कि जिस तरह से मुख्यमंत्री खुद लोगों के बीच जाकर वोट की अपील कर रहे थे, उसका असर भी देखने को मिलेगा।

बताते चलें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मेरठ में तूफानी दौरा रहा। एक तरफ जहाँ उन्होंने सबसे पहले मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 ब्लॉक का निरीक्षण किया, उसके बाद कैंट विधानसभा क्षेत्र में पहुँचे और डोर टू डोर कैंपेन में भाग लिया। इसके पश्चात हस्तिनापुर विधानसभा में भी संवाद कार्यक्रम में प्रतिभाग कर लोगों से वोट की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five + seventeen =