अगर जल्दी ही दिल्ली सरकार ने किसानों की मांगे नहीं मानी तो विशाल ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी

रिपोर्ट :- नीरज अवस्थी

केजरीवाल द्वारा दिल्ली के किसानों को दबाया जा रहा है-आदेश गुप्ता

नई दिल्ली, प्रदेश भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि आज देशभर में किसानों को कई तरह के लाभ मिल रहे हैं जैसे उपकरण खरीदने पर छूट, ट्रैक्टर की खरीद पर सब्सिडी, खाद खरीदने पर सब्सिडी मिलती है लेकिन दिल्ली के अंदर कोई सब्सिडी नहीं मिलती। सिंचाई के लिए बिजली की व्यवस्था सरकार करती है लेकिन दिल्ली में ऐसा नहीं है। क्योंकि दिल्ली के किसानों को केजरीवाल किसान समझते ही नहीं है। आज किसानों को कमर्सियल रेट के हिसाब से बिल आ रहे हैं, इससे शर्मनाक और कुछ नहीं हो सकता। आज गांव के किसानों द्वारा फैसला लिया गया अगर जल्दी ही दिल्ली सरकार ने मांगे नहीं मानी तो विशाल ट्रैक्टर रैली निकालेंगे।

श्री आदेश गुप्ता ने आज पिछले सात दिनों से लगातार मुख्यमंत्री आवास के बाहर अपनी मांगों को पूरा करने के लिए धरना पर बैठे हज़ारों किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में किसानों को प्रोत्साहन देना तो दूर उन्हें दबाया जा रहा है। आज किसानों को किसान का दर्जा तक नहीं दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत जो राशि किसानों के खाते में आनी चाहिए थी, उसे भी रोकने का काम केजरीवाल सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि किसानों के फसल बर्बाद होने पर मुआवजा के लिए 20,000 रुपये प्रति एकड़ का वायदा करने वाले केजरीवाल के खिलाफ जब किसानों ने आंदोलन किया तो उस राशि को बढ़ाकर 50,000 रुपये प्रति एकड़ कर दिया लेकिन अभी तक वह मुआवजा किसानों को नहीं मिला है।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल पंजाब में जाकर झूठा प्रचार कर रहे हैं कि वे दिल्ली के किसानों को 2616 रुपये एमएसपी दे रहे हैं। दिल्ली देहात के विकास के लिए आज तक कुछ नहीं किया है। दिल्ली के देहातों का सही मायने में विकास मुख्यमंत्री स्व. मदन लाल खुराना एवं स्व. साहेब सिंह वर्मा के कार्यकाल में हुआ चाहे वह सड़क बनाने की बात हो या फिर फ्लाईओवर बनाने की बात हो। उन्होंने कहा कि 400 करोड़ की लागत से नरेला-बवाना फ्लाईओवर बनाकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के गांवों में रहने वालों को तोहफा दिया है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के कई गांवों में बारिश का पानी भरा हुआ है, वहां खेती नहीं हो पा रही है, लेकिन पिछले सात सालों से वहां पानी निकासी का कोई भी उपाय नहीं किया गया। केंद्र सरकार द्वारा 2419 करोड़ रुपये यमुना की सफाई एवं 18 प्लांट लगाने के लिए दिया गया लेकिन आज यमुना की हालत पहले से बदतर है। दिल्ली में अधिकतम 7400 मेगावाट बिजली की खपत है लेकिन आज केजरीवाल सरकार सिर्फ फिक्स चार्ज 22700 मेगावाट की वसूल कर रही है। आने वाले निगम चुनाव के अंदर दिल्ली देहात एवं किसानों की आवाज बुलंद होगी क्योंकि भाजपा यह अनदेखी बर्दाश्त नहीं करेगी।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सत्ता में आने के बाद शराब माफियाओं से दोस्ती कर ली है। मंदिर, गुरुद्वार, रिहायशी इलाकों एवं विद्यालयों के बगल में हज़ारों करोड़ों रुपये रिश्वत लेकर शराब के ठेके खोल रहे हैं। गांवों का विकास, किसान की समस्या हल करने, कॉलेज एवं स्कूल बनाने, परिवहन प्रणाली दुरुस्त करने, घर-घर पानी देने के लिए केजरीवाल को सत्ता में बैठाया गया था लेकिन आज घर-घर शराब पहुंचाने और अपना जेब भरने का काम केजरीवाल कर रहे हैं।

आज सातवें दिन दिल्ली देहात के किसान हजारों की संख्या में अपने ट्रैक्टरों से धरना स्थल पर आए। आज के धरना प्रदर्शन में किसान मोर्चा के अध्यक्ष श्री विनोद सहरावत, मोर्चा महामंत्री श्री अनूप चौधरी, श्री राजपाल राणा, श्री जय सहरावत, श्री विनोद वत्स, श्री रणधीर विजय लाकड़ा एवं श्री अतुल शर्मा के साथ अन्य पदाधिकारी एवं हज़ारों की संख्या में दिल्ली के किसान मौजूद थे। अखिल भारतीय किसान यूनियन छुड़ानी के राष्ट्रीय महासचिव श्री सतीश नंबरदार ने इस धरने का समर्थन किया और भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + 15 =