सावन माह की शुरुआत आज से हुई 25 जुलाई से 22 अगस्त तक रहेगा सावन

रिपोर्ट :- शिल्पा

नई दिल्ली :-सावन माह की शुरुआत आज से हो चुकी है 25 जुलाई से 22 अगस्त तक सावन का यह पावन महीना रहेगा जिसमें कि भगवान शंकर को जल से अभिषेक किया जाता है जिससे कि शिव भक्तों की मनोकामना पूर्ण होती है भगवान शिव को सवार्धिक प्रिय जल की धारा है यही कारण है कि असंख्य शिव भक्त प्रभु का अभिषेक शुद्ध जल से करते हैं माना जाता है कि ऐसा करने से पृथ्वी पर भरपूर बारिश होती है और सभी प्रकार के जवाहर शांत होते हैं लक्ष्मी के प्रति के लिए शिव जी का गन्ने के रस से अभिषेक करना लाभप्रद बताया जाता है गाय के दूध से शिवलिंग पे जलाभिषेक करना मनचाही संतान की प्राप्ति होती है चीनी मिश्रयदु दूध से अभिषेक से बुद्धि में श्रेष्ठता आती है जड़ता का उन्मूलन होता है शहद से अभिषेक करने से व्यक्ति के पापों का नाश होता है टीबी के रोगियों को बीमारी से लाभ मिलता है कि सबसे करने से जीवन में आरोप था जाती है और वंश वृद्धि होती है सरसों तेल सबसे पर श्रद्धालुओं के शत्रुओं का नाश होता है सभी कार्यों में सफलता मिलती है किसी व्यक्ति को मोक्ष की कामना हो तो उसे तीर्थों के जल से अभिषेक करना चाहिए।

किस लिए होता है शिव का अभिषेक

यह मानता है कि भगवान शिव के समुद्र मंथन के बाद विषपान किया था तो उनके गले में काफी जलन होने लगी थी इसे शांत करने के लिए देवी-देवताओं समय जो फूलों से वासियों ने उन्हें जल अर्पित करना शुरू किया इससे उनके गले और मस्तिक में थोड़ी ठंडक आई और यही वजह है कि बहुसंख्यक सीजी को गंगाजल या शुद्ध जल अर्पित करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + eight =