वेडिंग सीजन में बढ़ेगी कोरोना की रफ्तार! इन 8 तरीकों से हो सकता है काबू

रिपोर्ट ‘- कशिश

नई दिल्ली :-शादियों का सीजन शुरू होते ही कोरोना के मामले बढ़ने का खतरा तेज हो गया है। सर्दियों में कोरोना से बड़ी तबाही की चेतावनी एक्सपर्ट पहले ही दे चुके हैं। शादी-समारोह में बड़े पैमाने पर भीड़ को रोकने के लिए राज्य स्तर पर सरकारें गाइडलाइंस जारी कर चुकी हैं। दिल्ली-यूपी की शादियों में 100 से ज्यादा लोगों के शामिल होने की अनुमति नहीं है। शादी-समारोह में निजी तौर पर कुछ विशेष सावधानियां बरतने से भी कोरोना संक्रमण का खतरा कम किया जा सकता है। बंद जगहों पर शादी-समारोह के आयोजन से कोरोना फैलने की संभावना ज्यादा है। ऐसी जगहों पर वेंटिलेशन की पर्याप्त सुविधा होनी चाहिए। ऐसे कार्यक्रम खुली जगहों पर करना ज्यादा सुरक्षित होगा।

चूंकि कोरोना सरफेस पर कई घंटों तक एक्टिव रहता है, इसलिए खाने-पीने की चीजों को लेकर भी सतर्क रहें. सलाद, फल, दही, कच्चा पनीर या कच्ची सब्जियां खाने से बचें। रॉ फूड की बजाय पका हुआ खाना ही खाएं। इसके अलावा कैटरर्स भी हाइजीन का खास ध्यान रखें।

आयोजन स्थल पर किसी भी सरफेस को छूने से बचें। यहां तक कि बाउल से खाना निकालने के लिए भी सर्विंग स्पून को नैपकिन या टिश्यू पेपर की मदद से पकड़ें। खाने से पहले और बाद में हाथों को अच्छी तरह से धोएं।

केटरिंग सबसे मुख्य डिपार्टमेंट है। यहां ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है। सेल्फ-सर्विस काउंटर्स का इंतजाम करें। आप चाहें तो खाने के काउंटर्स की जगह मेहमानों को पैक्ड फूड बॉक्स भी दे सकते हैं।

शादी-समारोह से पहले मेहमानों की लिस्ट तैयार कर लें। केवल उन लोगों को इनवाइट करें जो बेहद करीबी हैं। शादी के अलग-अलग फंक्शन में अलग-अलग लोगों को इनवाइट करें। ऐसा करने से आप ज्यादा लोगों को बुला सकेंगे और भीड़ भी नहीं इकट्ठा होगी।

एंट्री गेट, खाने की टेबल या अन्य जगहों पर सेनिटाइजेशन की व्यवस्था करवाएं. बिना मास्क के लोगों को मैरिज हॉल में एंट्री न दें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और लोगों से निश्चित दूरी बनाएं रखें।

बीमारी व्यक्ति को शादी-समारोह में न लेकर जाएं। मैरिज हॉल खांसने या छींकने वाले लोगों से दूरी बनाएं रखें। संभव हो तो ऐसी जगहों पर बच्चों और बुजुर्गों को बिल्कुल न लेकर जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + 11 =