रेल रोको आंदोलन 68 वें दिन में हुआ दाख़िल ,गृह मंत्री की शर्तों के अनुसार नही हो सकती बातचीत :किसान जत्थेबंदी


रिपोर्ट :- कुलजीत सिंह

जंडियाला गुरु :-किसान मज़दूर सँघर्ष कमेटी पंजाब के राज्य प्रधान सतनाम सिंह पन्नु और राज्य सचिव सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि कुछ निज्जी चैंनलों द्वारा आंदोलन के बारे में कुछ ऐसे सवाल कर आंदोलनकारी किसानों को नक्सली और खालिस्तानी साबत करने पर ज़ोर लगा रहा है जबकि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का बड़ा भाग अपनी जिम्मेदारी सही निभा कर लोगों की आवाज़ घर घर तक पहुंचा रहा है।

किसान मज़दूर जत्थेबंदी द्वारा जसबीर सिंह पिद्दी ,सुखविंदर सिंह सभरा ,लखविंदर सिंह वरियाम नंगल की अध्यक्षता में किसानों ,मज़दूरों ने बड़ी गिनती में दिल्ली अंदर दाखिल होकर कुंडली बॉर्डर पर जाम लगाकर मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया गया है। किसान नेताओं ने कहा कि गृह मंत्री की शर्तों के अनुसार केंद्र सरकार के साथ बातचीत नही हो सकती मीटिंग से पहले ही प्रधानमंत्री का बयान देना कि कृषि कानून किसानों के लिए सही हैं ।किसान मज़दूरो की आवाज़ सुनने की जगह कॉरपोरेट घरानों की आवाज़ सुनी जा रही है।

जंडियाला गुरु में रेल रोको आंदोलन आज 68वें दिन में दाख़िल हो गया है रेल रोको आंदोलन को संबोधित करते हुए सविंदर सिंह चुताला ने कहा कि आंदोलन को लंबा चलेगा और दूसरा जत्था दिल्ली के लिए फिरोज़पुर से हज़ारों ट्रालियों द्वारा रवाना होंगे। इस मौके पर गुरविंदर सिंह खजाला ,गुरप्रीत सिंह गोपी ,सोहन सिंह ,परमजीत सिंह ,सतनाम सिंह ,हरबीर सिंह ,सुखजिंदर सिंह ,अजैब सिंह ,गरमुख् सिंह और जोगिंदर सिंह ने भी संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + 7 =