यमुना गंदी होने से बची, नहीं हुआ इस बार गणेश विसर्जन

रिपोर्ट:- प्रियंका झा

नई दिल्ली:- यमुना गंदी होने से बची, नहीं हुआ इस बार गणेश विसर्जन राजधानी दिल्ली में 11 दिनों तक चला गणेश चतुर्थी का पर्व मंगलवार को गणेश विसर्जन के साथ समाप्त हो गया लोगों ने सादगी के साथ घरों व मंदिरों में ही गणपति बप्पा का विसर्जन किया गणेश उत्सव के दौरान हर साल यह प्रदूषित हो जाती थी।
लेकिन इस बार यमुना प्रदूषित नहीं हुई जिसके कारण यमुना में गंदगी अलग से ही नजर आती थी पहले। इस साल पुराना संक्रमण के चलते सरकार के दिशा निर्देश पर प्रशासन व पुलिस की सख्ती के कारण यमुना में विसर्जन नहीं हो सका जिसके चलते यमुना गंदी होने से बच गई।

कोरोना संक्रमण के चलते सरकार ने गणेश उत्सव पर पूरी तरीके से रोक लगाने की दिशा निर्देश दिल्ली के अलग-अलग प्रशासनिक अधिकारियों को दे दी थी जिसके बाद यमुना के घाट और सड़क किनारे यमुना के पास पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी।


जिन्होंने दिनभर शक्ति के साथ ड्यूटी की इस दौरान कई लोग विसर्जन के लिए घाट पर पहुंचे तो उन्हें वापस लौटा दिया गया हालांकि इस बीच कुछ भक्तों ने चोरी छुपे यमुना के किनारों पर जाकर विसर्जन किया जिनमें कई लोगों के पुल के पास विसर्जन करते हुए नजर आए।

श्रद्धालुओं ने घर में ही किया विसर्जन पहली बार ऐसा हुआ कि लोगों ने अपने घर में ही विराजमान में गणपति बप्पा को घर में ही विसर्जित किया इसके लिए करोल बाग पटेल नगर राजेंद्र प्लेस समेत अलग-अलग खोला बनाकर बाबा को साथ विसर्जन किया।


साथ ही अधिकतर लोगों ने घर में ही पार्टियां तब में विसर्जन किया के लोगों ने बताया कि हर साल बब्बा विराजमान होते हैं जिन्हें वह यमुना में विसर्जित करते थे लेकिन इस साल घर में ही विसर्जन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × five =