नए कोरोना वायरस के प्रकार से भारत ने रोकी ब्रिटेन की उड़ानें हुई पूरी दुनिया हैरान

रिपोर्ट :- दौलत शर्मा

नई दिल्ली :-ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के मिलने के बाद यूरोप समेत दुनिया के दूसरे देशों में हड़कंप मचा हुआ है. इससे भारत भी दूर नही रहा।

भारत सरकार ने ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट 31 दिसंबर तक रोक दी है. इसके पहले यूरोप और दुनिया के कई दूसरे देशों ने भी ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट अस्थाई तौर पर बंद करने का फैसला लिया है।

ब्रिटेन से आने वाले हर यात्री का आरटीपीसीआर टेस्ट एयरपोर्ट पर किया जाएगा. ये फ़ैसला 22 दिसंबर रात 12 बजे से ब्रिटेन से आने वाली सभी उड़ानों के लिए लागू होगा।

कई जानकार इसे पैनिक में लिया गया फैसला बता रहे हैं. जो पूरी दुनिया की चिंता बढ़ा रहा है। जिन 23 देशों के साथ भारत में एयर बब्बल करार है, उसमें से ब्रिटेन भी एक देश है।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भारत में गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होने का न्योता भी स्वीकार किया है. वो जनवरी में भारत आने वाले हैं. हाल ही में ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब भी भारत का दौरा करके लौटे हैं.भारतीयों को डर था कि दोनों देशों के बीच विमानों की आवाजाही और पैसेंजर के आने-जाने की सहूलियतों की वजह से नए स्ट्रेन का कोविड 19 वायरस भारत तो पहुँच जाएगा।

ये चिंता इसलिए भी थी क्योंकि इसी साल जनवरी के बाद भारत में कोरोना के तेज़ी से फैलने के पीछे विदेश से यात्रा कर लौटे लोगों को बड़ी वजह माना गया था.

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, केरल, राजस्थान समेत कई राज्यों में कोरोना के शुरुआती मरीज़ विदेश यात्रा से भारत लौटे लोग ही थे।

उस वक़्त कई जानकारों ने आरोप लगाया कि विदेश से लौटने वालों पर भारत सरकार ने पाबंदी देरी से लगाई थी।

दिल्ली, राजस्थान मुख्यमंत्री ने सोमवार को इस बारे में ट्विटर पर अपनी चिंता भी जाहिर की है. तो महाराष्ट्र के मंत्री भी पीछे नहीं रहे।

भारत सरकार को त्वरित कार्रवाई करते हुए इस बारे में प्लान तैयार करना चाहिए और ब्रिटेन समेत दूसरे यूरोपीय देशों से एयर बब्बल करार को रोक देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + nine =