देश में बदला बीएमआई, महिला के लिए 55 किलो और पुरुष के लिए 65 किलो हुआ

रिपोर्ट:- प्रियंका झा

नई दिल्ली:-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन ने देश में महिला और पुरुष के लिए आदर्श वजन में थोड़ा बदलाव किया है। अब नए नियमों के मुताबिक दोनों के लिए आदर्श वजन में पांच किलो की बढ़ोतरी की है। दस साल पहले किसी पुरुष के लिए आदर्श वजन 60 किलो था, जिसे बढ़ाकर 65 किलो कर दिया गया है। अब देश का बॉडी मास इंडेक्स बदल गया है।

वहीं महिला के लिए आदर्श वजन 50 किलो था, जो अब बढ़कर 55 किलो हो गया है। इसके अलावा महिला और पुरुष के लिए आदर्श लंबाई को लेकर भी कई बदलाव किए गए हैं। पुरुष के लिए आदर्श लंबाई 5 फुट 6 इंच (171 सेमी), जबकि महिला के लिए 5 फुट (152 सेमी) थी।

लेकिन अब इसे भी बदल दिया गया है। नए पैमाने के आधार पर पुरुष के लिए 5 फुट 8 इंच (177 सेमी) की लंबाई आदर्श मानी जाएगी और महिला के लिए 5 फुट 3 इंच (162 सेमी) तय की गई है।

रेफरेंड एज में भी किया गया बदलाव:-


नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन ने सोमवार को जारी अपनी रिपोर्ट में बताया कि भारतीयों के लिए पोषण आहार और अनुमानित औसत आवश्यकता की सिफारिशों को भी संशोधित किया गया है। देश में महिला और पुरुषों के रेफरेंस एज में भी बदलाव किया गया है।

इसे 2010 के 20-39 की जगह अब 19-39 कर दिया गया है। वैज्ञानिकों ने बताया कि 1989 की विशेषज्ञ कमिटी ने केवल बच्चों और किशोरों का ही वजन और लंबाई को शामिल किया था। इसके अलावा 2010 की कमिटी ने केवल दस राज्यों के नमूने ही लिए थे।

बीएमआई क्यों बढ़ाया गया?-


नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन के वैज्ञानिकों ने बताया कि बीएमआई में इसलिए बदलाव किया गया है क्योंकि भारतीयों के पोषक खाद्य तत्वों के सेवन में बढ़ोतरी हुई है। इस साल के सर्वे में ग्रामीणों को भी शामिल किया गया है, जबकि दस साल पहले केवल शहरी इलाकों को ही शामिल किया गया था।

2020 में किया गया सर्वे अब तक किए गए सभी सर्वों में सबसे बड़ा है। इसमें वैज्ञानिकों के पैनल ने पूरे देश से डाटा लिया है। इसमें सभी संस्थानों के अध्ययन को शामिल किया गया है। पहली बार आईसीएमआर एक्सपर्ट कमिटी ने फाइबर आधारित एनर्जी पोषक तत्व का भी ध्यान रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 1 =