देश में फिर हुई प्याज की किल्लत, महंगाई के संकट से बचने के लिए मोदी सरकार ने निकाला यह रास्ता

रिपोर्ट:- प्रियंका झा

नई दिल्ली:- देश में फिर हुई प्याज की किल्लत, महंगाई के संकट से बचने के लिए मोदी सरकार ने निकाला यह रास्ता।
नासिक क्षेत्र से प्याज की सप्लाई कम होने और उसके चलते कीमतों में लगातार इजाफे की वजह से एक्सपोर्ट पर बैन का फैसला लिया गया है। फिलहाल राजधानी दिल्ली में एक किलो प्याज की कीमत 40 रुपये के करीब बनी हुई है।

अकसर महंगाई के आंसू रुलाने वाले प्याज की एक बार फिर से देश में किल्लत बढ़ती दिख रही है। इस बीच सरकार ने समस्या से निपटने के लिए प्याज के निर्यात पर रोक लगाने का फैसला लिया है। सोमवार को केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी। यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि घरेलू बाजारों में कीमतों को नियंत्रित किया जा सके। हालांकि प्याज से बने पाउडर के निर्यात पर रोक नहीं लगाई गई है। देश के कई हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ के चलते प्याज की किल्लत देखने को मिल रही है।

डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि सभी तरह की प्याज के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जाती है। इस प्रतिबंध के दायरे में बंगलुरु की लाल प्याज और कृष्णापुरम प्याज भी शामिल हैं। अब तक प्याज की इन वैराइटीज के निर्यात पर रोक नहीं लगाई जाती थी। नासिक क्षेत्र से प्याज की सप्लाई कम होने और उसके चलते कीमतों में लगातार इजाफे की वजह से एक्सपोर्ट पर बैन का फैसला लिया गया है। फिलहाल राजधानी दिल्ली में एक किलो प्याज की कीमत 40 रुपये के करीब बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 5 =