पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का प्रत्यक्ष रेट उनके निवास स्थान पर,अंतिम दर्शन करेंगे लोग

रिपोर्ट:- कशिश

नई दिल्ली:  पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का प्रत्यक्ष रेट उनके निवास स्थान पर, अंतिम दर्शन करेंगे लोग सियासत के शिखर पुरूष और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को आज आखिरी विदाई दी जाएगी. दोपहर 2.30 बजे दिल्ली के लोधी श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा। दोपहर 12 बजे तक अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर रखा जाएगा. सुबह सवा 9 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें श्रद्धांजलि देंगे।
उनका निधन सेना अस्पताल में 31 अगस्त की शाम को हुआ था जिसके जानकारी उनके बेटे ने ट्वीट कर कर दी थी और साथ ही उन लोगों का धन्यवाद किया था जो लोगों ने प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य के लिए कामनाएं की थी लेकिन प्रणब मुखर्जी नगर में लाल चकत्ते और उनके को ना रिपोर्ट पॉजिटिव होने के बाद उनके हाथ लगातार बिगड़ते जा रहे हैं।  जिसकी वजह से उनको अस्पताल में काफी लंबे समय से है ना पढ़ रहा था और डॉक्टर का भी कुछ कहना था कि तबीयत लगातार बिगड़ रही है और कल शाम में ही उनकी उनका देहांत हो गया इसके वजह से राजनीतिक पार्टियों को बड़ा धक्का लगा कि हमारे बीच नहीं रहे और लोगों को इस बात का दुख है।
2012 से 2017 तक रहे थे देश के राष्ट्रपति 84 साल की उम्र में ली अंतिम सांस काफी लंबे समय से बीमार उनके सर में लाल चटके हुए थे। जिसकी वजह से उन्हें सेना हॉस्पिटल में एडमिट कर लिया गया था वहीं उन्होंने आखिरी सांस ली।
प्रणब मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति थे उन्होंने सेना  में आखिरी सांस ली।


इसकी जानकारी उनके बेटे ने ट्विटर पर ट्वीट कर कर दी।
11दिसंबर 1935 का जन्म हुआ था।
2004 में मनमोहन सरकार में नंबर दो की हैसियत पढ़ते और मनमोहन सरकार में रक्षा विदेश और वित्त मंत्री रहे।
1973 में इंदिरा सरकार में पहली बार शामिल हुए 1982 में पहली बार देश के वित्त मंत्री बने 1980 से 85 के बीच राज्यसभा में सदन के नेता रहे 1991 में योजना आयोग के उपाध्यक्ष बने 2004 में पहली लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए
2012 में राष्ट्रपति चुने गए थे 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति रहे 2019 में देश का सर्वोत्तम सम्मान भारत रत्न मिला लंबे राजनीतिक जीवन में कई मंत्रालयों को संभाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − twelve =