दशहरे को लेकर देशभर में रावण के पुतले बनाने की चल रही है तैयारी

रिपोर्ट :- दिव्या सिन्हा / कशिश

नई दिल्ली: दिल्ली के ततारपुर इलाके में चल रही है। दशहरे के तैयारी चल रही है। यह दिल्ली की सबसे बड़ी मार्केट मानी जाती है।

जहां पर रावण बनाए जाते हैं। यहां पर 5 फुट से 50 फुट तक रावण बनाए जाते हैं। यह लोग खुद लकड़ियां इकट्ठा करके उन्हें सावधानी से तैयार करते हैं और फिर लोगों के ऑर्डर आने पर बेचते हैं। लेकिन इस बार कोरोनावायरस  की वजह से उनके रोजगार पर काफी असर पड़ रहा है। सरकार द्वारा अभी तक अनुमति नहीं दी गई है। दशहरे को हर साल की तरह बनाया जाए। क्योंकि रावण नहीं बिक रही है रोजगार नहीं चल रहा है लेकिन उनको अभी एक-दो दिन की उम्मीद है कि शायद ऑर्डर आएगा और रावण बिकेगे।

दशहरा का त्योहार पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जाता है। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई और असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक है। दशहरा हर साल अश्विन मास की दशमी तिथि को मनाया जाता है। दशहरा को विजयादशमी के नाम से भी जानते हैं। विजयादशमी के दिन रावण फूंकने की भी परंपरा है। पौराणिक कथा के अनुसार, इस दिन मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम ने लंकापति रावण का वध किया था। भगवान राम के रावण पर विजय प्राप्त करने के कारण ही इस दिन को विजयादशमी कहा जाता है। इसके अलावा इस दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का भी वध किया था। हालांकि इस साल दशहरा की तारीख को लेकर लोगों के बीच कंफ्यूजन है।

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल दशहरा का त्योहार 25 अक्टूबर को मनाया जाएगा। दशहरा, दिवाली से ठीक 20 दिन पहले मनाया जाता है। हालांकि इस साल नवरात्रि 9 दिन के न होकर 8 दिन में ही समाप्त हो रहे हैं। इसके पीछे का कारण है- अष्टमी और नवमी का एक ही दिन पड़ना। 24 अक्टूबर को सुबह 6 बजकर 58 मिनट तक ही अष्टमी है, उसके बाद नवमी लग जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five + 12 =