ट्रैक्टर चलाकर संसद पहुंचे राहुल गांधी, बोले कृषि कानून नहीं है किसान के हक में

रिपोर्ट :- शिल्पा

नई दिल्ली : कृषि कानून के विरोध में किसान 8 महीने से गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं। किसान हर प्रकार की कोशिश कर रहे हैं की कृषि कानून वापस ले लिया जाए। लेकिन सरकार भी अपनी बात पर अड़ी हुई है। किसान कानूनों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्रैक्टर मार्च निकाला। राहुल गांधी खुद ट्रैक्टर चलाकर संसद भवन पहुंचे और राहुल गांधी के साथ साथ ट्रैक्टर पर पंजाब कांग्रेस के कई नेता भी बैठे हुए थे। राहुल गांधी जिस ट्रैक्टर को चला रहे थे उस पर एक पोस्टर लगा हुआ था जिसमें यह लिखा हुआ था, “किसान विरोधी तीनों काले कृषि कानून वापिस लो-वापिस लो।” राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा,”हम किसानों के संदेश को संसद तक लाए हैं, संसद में इसको लेकर चर्चा नहीं करने दे रहे हैं, किसानों को दबाया जा रहा है, इसलिए हम ट्रैक्टर पर आए हैं, काले कानून है इनको वापस लेना पड़ेगा, यह किसानों का मैसेज है, इसलिए मैं ट्रैक्टर को यहां ले कर आया हूं।

साथ ही राहुल गांधी ने यह भी कहा कि कानून किसानों के फायदे के लिए नहीं है यह दो या तीन बड़े उद्योगपतियों के लिए कानून लेकर आए हैं।”राहुल गांधी के ट्रैक्टर को संसद भवन के बाहर एनेक्सी गेट पर रोक दिया गया। ट्रैक्टर लेकर राहुल गांधी संसद भवन जाना चाह रहे थे लेकिन गेट पर ही रोक दिया गया जिसके बाद राहुल गांधी ट्रैक्टर से उतरकर संसद भवन की तरफ चले गए। राहुल गांधी के साथ हरियाणा कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा,पंजाब कांग्रेस नेता प्रताप सिंह भाजपा ही मौजूद थे। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष ने ये भी कहा,” सरकार के मुताबिक किसानों के खिलाफ कुछ नही हुआ, किसान बिलकुल खुश है, वो जो बाहर बैठे हैं वो आतंकवादी हैं, मगर जो हकीकत है वह यह है कि जो किसानों का है वो उनसे छीना जा रहा है और 2-3 उद्योगपतियों के हाथ दिया जा रहा है।” यह सब कर राहुल गांधी ने एक बार फिर सुर्खिया बटोरी। संसद के मॉनसून सत्र के कारण इस इलाके में धारा 144 लागू रहती है. ऐसे में राहुल गंधी बिना किसी पूर्व सूचना के इस तरह ट्रैक्टर चलाकर संसद भवन पहुंचे थे. राहुल गांधी तो संसद भवन में चले गए, लेकिन बाद में दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला, श्रीनिवास बी.वी. को हिरासत में ले लिया।

इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने उस ट्रैक्टर को भी अपने कब्जे में ले लिया. साथ ही कई कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को भी हिरासत में लिया गया है. दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस द्वारा इस प्रदर्शन की इजाजत नहीं ली गई थी. साथ ही ट्रैक्टर के आगे या पीछे नंबर प्लेट नहीं थी। किसान काफी लंबे समय से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे है और अब दिल्ली के जंतर मंतर पर किसान संसद बैठाई गई है। जबतक मॉनसून सत्र चलेगा, तभी तक जंतर-मंतर पर किसानों द्वारा किसान संसद चलाई जाएगी। इस दौरान करीब 200 किसानों को यहां रहने की इजाजत है। कांग्रेस पार्टी भी लगातार कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है और संसद में भी कांग्रेस द्वारा हंगामा किया जा रहा है। सोमवार को राहुल गांधी ने भी बयान दिया कि सरकार को तीनों कृषि कानून वापस लेने होंगे, ये किसानों की आवाज़ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 + eight =