बच्चों के खिलौनों को दिया जाएगा सबसे ज्यादा बढ़ावा हिंदुस्तान में

रिपोर्ट:- कशिश

नई दिल्लीः बच्चों के खिलौनों को दिया जाएगा सबसे ज्यादा बढ़ावा हिंदुस्तान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि 68 भी मन की बात में उन्होंने लोकल को वोकल बनाने की बात करी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- आत्मनिर्भर भारत के लिए टॉय इंडस्ट्री वह बड़ी भूमिका निभानी है आत्मविश्वास जगाने का आंदोलन है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात सुनी तो इंडस्ट्री में बड़ी भूमिका निभाने के लिए कहा जिसमें उन्होंने गांधीजी के असहयोग आंदोलन की भी बात करी ने कहा कि यह लोगों में आत्मविश्वास जगाने का आंदोलन है हमें आत्मनिर्भर बनना होगा जिससे हमें कभी दुसरो की जरूरत ना पड़े।
टॉय इंडस्ट्री की अहम भूमिका- खिलौना वह चीज है जिससे हम बचपन में  खेले भी और खिलखिलाए भी। अब कंप्यूटर दौर का गेम है। लेकिन जो प्लास्टिक के खिलौने से बच्चे खेला करते थे वह कहीं ना कहीं उन्हें चोट पहुंचाते थे लेकिन अब जिस तरीके से भारत में उन्होंने बनेंगे वह पूरे राउंडेड चैट के बनेंगे और किसी भी तरह से नुकसान की कोई आशंका नहीं रहेगी वहीं कंप्यूटर गेम्स भी भारतीय टीम पर बनाए जाएंगे क्योंकि हमारा इतिहास बहुत ही खूबसूरत रहा है तो उसके अनुसार ही भारतीय गेम्स कंप्यूटर पर खेले जाएंगे।


भारत में  ऐसी बहुत सारी जगह है जहां पर कहीं मिट्टी के तो कहीं लकड़ी के खिलौने बनाए जाते हैं वह दिखने में बहुत आकर्षक और खूबसूरत होते हैं। जो बच्चों को बहुत पसंद आएंगे और साथ ही हमारी संस्कृति को भी लोग आएंगे और इतिहास को दोहराएंगे।


मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चिड़ियों का जिक्र किया है जैसे बच्चों के खान-पान माता-पिता का पोषण और सांस्कृतिक तरीके से का त्योहार मनाए जा रहे हैं लोग करना मामा जी के घर पर भी धूमधाम से उसके हार को मना रहे हैं साथ ही दिन और खिलौनों की बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाकई बहुत खूबसूरत तरीके से किए हैं आदेश को आत्मनिर्भर बनाना है और साथ ही हमें अपनी चीजों को अपनाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 + 2 =