क्या गणतंत्र दिवस समारोह में बाधा बनेगा किसान आंदोलन

रिपोर्ट :- दौलत शर्मा

नई दिल्ली :-कृषि कानून का विरोध कर रहे किसान लगातार 52 दिनों से डटे हुए हैं और यह आकलन लगाया जा रहा है कि यह आंदोलनकारी किसान गणतंत्र दिवस समारोह में एक बड़ी बाधा बन सकते हैं।

दिल्ली पुलिस को खुफिया विभाग से इस तरह का इंपोर्ट प्राप्त हुआ है इसके बाद जांच दिल्ली पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है वहीं पहली बार नई दिल्ली जिले को 25 जनवरी की रात ही सील किए जाने का निर्णय किया गया है.

दिल्ली मे चप्पे-चप्पे पर पैरामिलिट्री की भी तैनाती शुरू कर दी गई है। hello कई दिन पहले से दिल्ली पुलिस की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में भी अर्जी दायर की गई है। इसमें अनुरोध किया गया है कि शीर्ष अदालत द्वारा किसानों को समारोह के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी पैदा न करने की हिदायत दी जाए इस पर सुप्रीम कोर्ट ने किसान नेताओं का पक्ष मांगा है।

दिल्ली के सिंधु टिकरी गाजीपुर आदि अन्य सीमा पर हजारों में किसान धरने पर लगातार 52 दिन से बैठे हुए हैं कुछ किसान नेताओं ने गत दिनों गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने के बाद आंदोलन खत्म करने की बातें कहीं हैं ।

कुछ इंटेलिजेंस इनपुट के अनुसार कुछ आंदोलनकारी किसान गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर दिल्ली कूच करने की कोशिश में लगे हैं हालांकि पुलिस किसी भी सूरत में किसानों को ट्रैक्टर लेकर दिल्ली की सीमा में प्रवेश करने की इजाजत बिल्कुल भी नहीं देगी। यह भी सूचना मिल रही है कि कुछ किसान मोबाइल के जरिये 10-10 या 20-20 की संख्या में आपस में रहेंगे और अलग- अलग होकर जाएंगे ।

इसके बाद अचानक 100 200 किसान राजपथ पर नारेबाजी कर सकते हैं इसे देखते हुए पूरी पुख्ता तैयारियां कर ली गई हैं पुलिस को हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है।

साथी जो लोग किसी भी प्रकार का दंगा वह हिंसा करने की कोशिश कर सकते हैं ।उन पर सख्त कार्रवाई की जाए जिसको देखते हुए वहाँ पर वाटर कैनन फायर ब्रिगेड व आशु के स्कॉलर तैनात कर दिए गए हैं।

दिल्ली पुलिस को हर तरह की परिस्थिति से निपटने के लिए आदेश दे दिए गए हैं और 26 जनवरी का कार्यक्रम बिना किसी अड़चन के हो उसकी पूरी जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस के कंधों पर है क्योंकि इस बीच कितने बड़े राष्ट्रीय कार्यक्रम के बीच में किसी भी तरह की कोई हिंसक खबर या अन्य अड़चन न आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + ten =