इस्तेमाल कंडोम की हो रही थी धुलाई, बड़े रैकेट का हुआ पर्दाफाश

रिपोर्ट :- कशिश

नई दिल्लीः इस्तेमाल कंडोम की हो रही थी धुलाई, बड़े रैकेट का हुआ पर्दाफाश कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर के तमाम देशों में जब लॉकडाउन लगा हुआ था तो कई देशों से कंडोम को लेकर तमाम खबरें सामने आईं थी। इसी बीच अब वियतनाम से एक ऐसा मामला सामने आया है जहां पुलिस ने एक फैक्ट्री से बोरे में भरे बड़ी मात्रा में यूज किए हुए कंडोम पकड़े हैं। ये सभी कंडोम धोकर रखे हुए थे।

बोरे में भरे कंडोम फर्श पर बिखरे हुए हैं. ये कंडोम वियतनाम के बिन डॉन्ग प्रांत के एक वेयरहाउस में हो चि मिन्ह सिटी के पास मिले हैं।

पुलिस ने करीब साढ़े तीन लाख इस्‍तेमाल किए हुए कंडोम पकड़े हैं। इनको पानी में धोकर नए कंडोम के रूप में बेचा जाना था। ये सभी एक गोदाम में करीब एक दर्जन बोरे की तरह बने बैग में भरकर रखे गए थे। वियतनाम के सरकारी टीवी चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक कंडोम से भरे इन बैग का वजन ही करीब 360 किलोग्राम है।

गोदाम के मालिक ने बताया कि उन्‍हें अज्ञात व्‍यक्ति से हर महीने इस्‍तेमाल किए हुए कंडोम का बैग मिलता था। पुलिस छापेमारी के दौरान हिरासत में ली गई एक महिला ने बताया कि इन इस्‍तेमाल किए हुए कंडोम को पहले उबलते हुए पानी में डाला जाता था। इसके बाद उसे सुखाया जाता था।

इसके बाद मजदूरों को इन्हें दोबारा पैक करने से पहले उसकी सफाई का काम दिया जाता था। जब ये फिर से तैयार हो जाते थे तो उन्हें दोबारा बेचने के लिए अच्छी तरह से पैक किया जाता था। जानकारी के मुताबिक, हजारों कंडोम पहले ही बेचने के लिए भेजे जा चुके हैं।

हालांकि, टीवी चैनल ने बताया कि यह अभी तक स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि कितने इस्‍तेमाल किए हुए कंडोम दोबारा बेचे जा चुके हैं। महिला ने यह जरूर बताया कि उसे जितना किलो इस्‍तेमाल किया हुआ कंडोम बनाती थी, उसी के हिसाब से पैसा मिलता था।

अधिकारियों ने बताया कि मालिक ने कई कानूनों को तोड़ा है। उस पर जल्दी ही कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसकी जांच शुरू कर दी गई है। यह भी पता लगाया जाएगा कि इसके लिंक कहीं और से भी तो नहीं मिले हैं, क्या ऐसी ही कोई फैक्ट्री और भी चल रही है, इसकी भी जांच की जाएगी।

बता दें कि कंडोम सिंगल यूज के लिए बना होता है। दोबारा यूज करने से इंफेक्शन का खतरा रहता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कंडोम को इस्‍तेमाल करने के बाद उसे नष्‍ट करना होता है क्‍योंकि इसे खतरनाक मेडिकल कचड़ा माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − four =