आसमान को छू रहे हैं सब्जियों के बढ़ते दाम

रिपोर्ट :- कशिश

नई दिल्ली: बीते 1 महीने से हरी सब्जियों के साथ-साथ अन्य सब्जियों में भी दाम की बढ़ोतरी दिखाई दे रही है। कीमतें दोगुनी और तिगुनी होती जा रही है। इससे आम लोगों के लिए मुश्किल पैदा हो रही है। साथ ही सब्जियों की कीमत बढ़ जाने की वजह से आम आदमी का बजट बिगड़ रहा है।

कोरोना काल में आम जनता के लिए सब्जियां खा पाना भी मुहाल हो गया है। सितंबर के इस मौसम में हरी सब्जियों के दाम आसमान छू ही रहे हैं लेकिन इस साल आलू का दाम भी लगातार बढ़ रहा है। आलू का भाव 50 रुपये किलो पहुंच गया है। वहीं प्याज और टमाटर की कीमतें भी तेजी से बढ़ती दिखाई दे रही हैं। एशिया में फलों और सब्जियों की सबसे बड़ी मंडी दिल्ली की आजादपुर मंडी है। यहां आलू का थोक भाव 13 रुपये से 52 रुपये प्रति किलो हो गया है।

बीते एक महीनों में हरी सब्जियों की कीमतें दोगुनी और तिगुनी तक बढ़ी हैं। इससे आम लोगों के लिए मुश्किल पैदा हो रही है। साथ ही सब्जियों की कीमत बढ़ जाने की वजह से आम आदमी का बजट भी बिगड़ गया है। हालांकि, इस साल आलू की कीमतों में भी तेजी से वृद्धि हो रही है, जिस वजह से आम जनता को काफी अधिक दिक्कतों और परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

साथ ही साथ टमाटर के भी दाम बढ़ रहे हैं क्योंकि टमाटर एक ऐसी सब्जी है जो हर किसी सब्जी में डाली जाती है यह बहुत ही जरूरी होता है किसी के सपने को पूरा करने के लिए।  देश के लगभग तमाम बड़े शहरों में टमाटर की खुदरा कीमतें बढ़कर 60-70 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five + ten =